नई दिल्ली 
नए ट्रैफिक नियम लागू होने के बाद दिल्ली की सड़कों पर नजारे पहले से बदले नजर आ रहे हैं। वाहन चालक न सिर्फ पहले से अधिक सतर्क दिख रहे हैं बल्कि यातायात नियमों का पालन भी कर रहे हैं। ट्रैफिक पुलिस के मुताबिक 1 से 15 सितंबर के बीच हुए चालान में बीते वर्ष के मुकाबले करीब चार गुना चालान कम हुए हैं। नए मोटर व्हीकल एक्ट के बाद राजधानी में यातायात उल्लंघन के मामलों में कमी आई है। ट्रैफिक पुलिस के अनुसार, 1 सितंबर को लागू हुए नए ट्रैफिक नियमों के बाद दिल्ली में चालान किए जाने के मामलों में करीब चार गुना की कमी आई है।

ट्रैफिक पुलिस अधिकारी के अनुसार वर्ष 2018 में इसी अवधि (1 से 15 सितंबर) के दौरान जहां करीब ढाई लाख से ज्यादा चालान हुए थे। वहीं, इस वर्ष यह संख्या 73 हजार के करीब है। बिना हेलमेट और नशे में वाहन चलाने के मामलों में खासी कमी आई है। लोग यातायात नियमों का पालन कर रहे हैं। नए ट्रैफिक नियमों के बाद वाहनों की प्रदूषण जांच (पीयूसी) करवाने वालों की संख्या में रिकॉर्ड बढ़ोतरी हुई है। पहले जहां रोजाना दिल्ली में 12 से 15 हजार पीयूसी सर्टिफिकेट बनवाए जाते थे अब यह संख्या प्रतिदिन 50 हजार पहुंच गई है।

लोगों को जागरूक किया जा रहा

परिवहन विभाग रोजाना करीब 1500 से 2000 चालान कर रहा है। इसके अलावा ट्रैफिक पुलिस सड़कों पर लोगों को ट्रैफिक नियम पालन करने के लिए जागरूकता अभियान चला रही है। प्रमुख चौराहों पर लोगों को ट्रैफिक नियमों के बारे में उद्घोषणा कर जानकारी दी जा रही है। सड़क संकेत चिन्हों के पर्चे बांटे जा रहे हैं।

समन्वय का अभाव 

नए ट्रैफिक नियमों के लागू होने के 15 दिन बीतने के बाद भी दिल्ली सरकार ने इसे लेकर अधिसूचना जारी नहीं की गई है। दिल्ली सरकार के परिवहन विभाग के अधिकारियों के मुताबिक अभी वह इस पर ट्रैफिक पुलिस, कानूनविदों व अन्य सिविक एजेंसियों की राय ले रहा है। विभाग के अनुसार, दिल्ली सरकार चाहती है कि लोगों पर किसी तरह का अतिरिक्त दबाव न पड़े।

कारण                                2019           2018

लापरवाही से वाहन चलाना     9000          10000
बिना हेलमेट                        7000           53000
ट्रिपल राइडिंग                     600             8000
ड्रंकन ड्राइविंग                     800            18000
अन्य                                  55,600        1.73 लाख
कुल                                  73,000         2.62 लाख

स्रोत : ट्रैफिक पुलिस, (चालान के आंकड़े 1 सितंबर से 15 सितंबर तक)