शाहजहांपुर 
चिन्मयानंद पर शोषण का आरोप लगाने वाली छात्रा ने कहा कि अगर जल्दी ही चिन्मयानंद को गिरफ्तार नहीं किया गया तो वह आत्महत्या कर लेगी। छात्रा अपने परिवार के साथ प्रयागराज गई और वहां उसके पिता ने जरूरी औपचारिकताएं पूरी कर वकीलों से सलाह मशविरा भी किया। उधर, चिन्मयानंद को बुधवार को मेडिकल कॉलेज के आईसीयू में भर्ती कराया गया है।
 
बुधवार को एलएलएम छात्रा ने एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा था कि अगर जल्द ही स्वामी चिन्मयानंद की गिरफ्तारी नहीं की गई तो वह मिट्टी का तेल छिड़ककर आत्महत्या कर लेगी। इस बयान के बाद एसआईटी ने बुधवार शाम को प्रेस कन्फ्रेंस की। एसआईटी चीफ आईजी नवीन अरोड़ा ने कहा कि किसी की भावनाओं के अनुरूप या किसी की अपेक्षा के अनुसार एसआईटी जांच नहीं करेगी। तथ्यों और बयानों के आधार पर एसआईटी जांच कर रही है। बोले कि सभी पक्षों को संयम बरतने की जरूरत है। 

उन्होंने कहा कि एसआईटी पर भरोसा रखने की जरूरत है। कहा कि एसआईटी की जवाबदेही कोर्ट के प्रति है। बताया कि हम कोशिश कर रहे हैं कि इस केस में कोई भी तथ्य न छूटे। तेजी से  रात-दिन एक करके जांच पूरी की जा रही है। आईजी ने कहा कि 23 तारीख को इस मामले की स्टेटस रिपोर्ट हाईकोर्ट में पेश की जाएगी। 
उधर, स्वामी चिन्मयानंद को बुधवार शाम मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है। उनकी हालत और ज्यादा खराब होना उनके वकील ने बताई है। 

इधर, स्वामी पर आरोप लगाने वाली एलएलएम छात्रा की तीन सहेलियों को एसआईटी ने बयान के लिए तलब किया था, जिसमें दो लड़कियां एसआईटी ऑफिस पहुंची। वहां उन्होंने बयान दर्ज कराए। एक लड़की नहीं आ सकी, इसलिए उसके बयान लेने के लिए एसआईटी तिलहर पहुंची।