नई दिल्ली

आईएनएक्स मीडिया केस में पूर्व गृह मंत्री पी चिदंबरम की गुरुवार को दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट में पेशी होगी. चिदंबरम की 14 दिनों की न्यायिक हिरासत गुरुवार को खत्म हो रही है. अगर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) कस्टडी नहीं मांगता है तो चिदंबरम की न्यायिक हिरासत बढ़ सकती है. दिल्ली हाईकोर्ट में 23 सितंबर को चिदंबरम की बेल याचिका पर सुनवाई होगी.

आईएनएक्स मीडिया मामले में गिरफ्तार पूर्व वित्तमंत्री चिदंबरम ने जमानत के लिए 11 सतंबर को दिल्ली हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था. चिदंबरम ने आईएनएक्स मीडिया मामले में 14 दिनों की न्यायिक हिरासत के सीबीआई अदालत के आदेश को भी चुनौती दी है. इस मामले की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) कर रहा है.

चिदंबरम फिलहाल न्यायिक हिरासत में तिहाड़ जेल में बंद हैं. उन्होंने विशेष सीबीआई जज अजय कुमार कुहर की ओर से दिए गए न्यायिक हिरासत के आदेश को चुनौती दी है.

इसके साथ ही चिदंबरम ने आरोप लगाया कि आईएनएक्स मीडिया मामला राजनीतिक प्रतिशोध से प्रेरित है और जांच एजेंसी केंद्र के इशारे पर काम कर रही है. चिदंबरम ने दिल्ली हाईकोर्ट के समक्ष दायर अपने आवेदनों में कहा, इस मामले में तत्काल आपराधिक कार्रवाई एक दुर्भावनापूर्ण मामला है, जोकि राजनीतिक प्रतिशोध से पैदा हुआ है. जांच एजेंसी केंद्र के इशारे पर काम कर रही है, जो कि याचिकाकर्ता की बेदाग छवि को धूमिल करना चाहती है."

चिदंबरम ने हाईकोर्ट के समक्ष दो आवेदन पेश किए, जिनमें से एक जमानत के लिए था. इसके अलावा दूसरा आवेदन पांच सितंबर को निचली अदालत की ओर से पारित उस आदेश के खिलाफ है, जिसमें उन्हें 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था.