नई दिल्ली                                                                                            -                                            
विदेश मंत्री एस जयशंकर ने मंगलवार को कहा कि भारत और अमेरिका का संबंध काफी लम्बी दूरी तय कर चुका है और दोनों देशों के संबंधों में ऐसा कोई क्षेत्र नहीं, जो आगे की दिशा में नहीं बढ़ा हो। मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के 100 दिन पूरा होने पर विदेश मंत्री ने संवाददाताओं से कहा कि भारत और अमेरिका के संबंध लगातार आगे की ओर बढ़े हैं, चाहे बुश प्रशासन हो, ओबामा या अब ट्रंप के तहत प्रशासन हो। 

दोनों देशों के बीच वाणिज्य को लेकर एक सवाल के जवाब में जयशंकर ने कहा कि दोनों देशों के बीच कारोबार समस्या 'सामान्य है। उन्होंने कहा, 'यह बड़े सम्मान की बात है कि प्रधानमंत्री मोदी के ह्यूस्टन कार्यक्रम के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारतीय समुदाय का आमंत्रण स्वीकार कर लिया है।'

विदेश मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री भारतीय समुदाय को संबोधित करते रहे हैं और इस क्रम में साल 2014 में उन्होंने न्यूयार्क में मैडिसन स्कवायर में तथा 2015 में उन्होंने सैन जोस में संबोधन दिया था। उन्होंने कहा कि भारत..अमेरिका संबंध काफी बेहतर हैं। 

उन्होंने कहा कि हम देखते हैं कि दुनिया में पुन: संतुलन चल रहा है और बहुध्रुवीय व्यवस्था की बात हो रही है। ऐसे में भारत की बात आज ध्यान से सुनी जा रही है। उन्होंने उत्तरी अमेरिका, यूरोप, खाड़ी, आसियान एवं अफ्रीकी देशों के साथ भारत के संबंध मजबूत बनाने के प्रयासों का जिक्र किया।