मोहाली 
टीम इंडिया के नए बैटिंग कोच विक्रम राठौर पर सबकी निगाहें टिकी हुई हैं। राठौर हाल ही में टीम इंडिया के बैटिंग कोच बने हैं और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ घरेलू सीरीज उनके कार्यकाल की पहली सीरीज है। राठौर ने रोहित शर्मा की जमकर तारीफ की और कहा कि उन्हें तीनों फॉरमैट में खेलना चाहिए। वनडे और टी20 टीम के उप-कप्तान रोहित टेस्ट में नियमित सदस्य नहीं हैं। राठौर ने साथ ही टेस्ट सलामी बल्लेबाज के रूप में सभी परिस्थितियों अच्छा प्रदर्शन करने के लिए रोहित का समर्थन किया है।

रोहित का टेस्ट करियर काफी उतार-चढ़ाव भरा रहा है। रोहित को एक बार फिर दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट में मौका दिया गया है और इस बार उन्हें सलामी बल्लेबाज के रूप में शामिल किया गया है। राठौर ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ बुधवार को यहां होने वाले दूसरे टी20 इंटरनेशनल मैच से पहले कहा, 'वो इतना अच्छा खिलाड़ी है कि उसे सभी फॉरमैट में खेलना चाहिए। सभी ये सोचते हैं। सफेद गेंद के क्रिकेट में उन्होंने सलामी बल्लेबाज के रूप में इतना अच्छा प्रदर्शन किया है इसलिए ऐसा कोई कारण नहीं है कि वो टेस्ट सलामी बल्लेबाज के रूप में सफल नहीं हो, बशर्ते उन्हें पर्याप्त मौके मिलें। अगर वो अच्छा प्रदर्शन करते हैं तो टीम के लिए काफी फायदेमंद होगा।'
 
रोहित को स्वदेश में टेस्ट क्रिकेट में पारी का आगाज करने का मौका मिलेगा लेकिन राठौर ने कहा कि इस स्टार बल्लेबाज में विदेशों में भी सफल होने की क्षमता है। राठौर ने कहा, 'फिलहाल मैं पक्की तरह नहीं कह सकता हूं कि पहले टेस्ट का प्लेइंग इलेवन क्या होगा, लेकिन अगर रोहित अच्छा करते हैं और पारी का आगाज कर रहे हैं तो फिर वो क्यों नहीं।' रोहित ने सीमित ओवरों के क्रिकेट में 10,000 से अधिक रन बनाए हैं लेकिन वो सिर्फ 27 टेस्ट खेल पाए हैं और इसमें भी उनका औसत सिर्फ 39.62 रहा है जो उनके वनडे इंटरनेशनल क्रिकेट के औसत (48.52) से काफी कम है।