इंदौर। गुजरात में नर्मदा नदी पर बने सरदार सरोवर बांध के सर्वाधिक डूब प्रभावित लोग मध्यप्रदेश के हैं और यहां की जमीन व संपत्ति का भी अधिक नुकसान हुआ है। बड़वानी और धार जिले के कई विस्थापित अब भी पुनर्वास और मुआवजे के मोहताज हैं। डूब प्रभावितों के लिए गुजरात से और राशि मांगी गई है।

यह बात इंदौर में सोमवार को पत्रकारों के सवाल के जवाब में प्रदेश के मुख्य सचिव एसआर मोहंती ने कही। उन्होंने कहा कि हमने राशि की मांग की है और यह प्रक्रिया में है। गुजरात से कितनी राशि मांगी गई है, इसका आंकड़ा वे नहीं बता पाए। डूब प्रभावितों के आकलन में सरकार के स्तर पर कोई चूक हुई है, यदि ऐसा है तो कोई नई सूची बनाई जाएगी?

इस पर मुख्य सचिव ने कहा कि हमें पता है कि कितने लोग प्रभावित हुए हैं। पिछले दिनों नर्मदा बचाओ आंदोलन की कार्यकर्ता मेधा पाटकर से हमने कहा है कि हम सर्वे करेंगे। सर्वे में उनके लोगों को भी साथ रखेंगे। जहां-जहां कमी है, उसे भी दूर किया जाएगा। यह मुद्दा अभी खत्म नहीं माना जाए, नए परिवेश में अगर और लोग डूब में आएंगे तो उनका नाम भी जोड़ेंगे और उनका जायज मुआवजा दिया जाएगा।