नई दिल्ली
महिला क्रिकेट में फिक्सिंग की कोशिश का मामला सामने आया है. इस साल फरवरी में इंग्लैंड के खिलाफ सीमित ओवरों की घरेलू सीरीज से पहले भारतीय महिला टीम की एक सदस्य से संपर्क किया गया था. बीसीसीआई की भ्रष्‍टाचार निरोधक शाखा ने इस संबंध में बेंगलुरू में राकेश बाफना और जितेंद्र कोठारी नामक दो युवकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है.

स्‍पोर्ट्सस्‍टार (Sportstar) की रिपोर्ट के मुताबिक, बाफना ने भारतीय महिला टीम की खिलाड़ी से संपर्क किया था. खिलाड़ी को मैच फिक्सिंग में शामिल होने के लिए बड़ी रकम देने का ऑफर दिया गया.

बीसीसीआई की एसीयू (Anti-Corruption Unit) के प्रमुख अजीत सिंह ने स्‍पोर्ट्सस्‍टार से कहा, 'हमने बेंगलुरू में दो युवकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है. यह एफआईआर हमारी एक महिला खिलाड़ी को मैच फिक्सिंग के लिए संपर्क करने के संबंध में है. इस खिलाड़ी ने ऑफर देने वाले शख्‍स से बातचीत को रिकॉर्ड कर लिया था.'

कोठारी नामक शख्‍स ने खुद को स्‍पोर्ट्स मैनेजर बताते हुए महिला क्रिकेटर को संपर्क किया. रिपोर्ट्स के मुताबिक, हर मैच को फिक्‍स करने के लिए एक लाख रुपये देने की पेशकश की गई.