नई दिल्ली    
बांजा लूका चैलेंजर के उपविजेता भारत के उभरते पुरुष एकल टेनिस खिलाड़ी सुमित नागल ने एटीपी की ताजा रैंकिग में अपने करियर की अब तक की सर्वश्रेष्ठ 159वीं रैंकिग हासिल कर ली। 22 साल के नागल को रविवार को बांजा लूका चैलेंजर के फाइनल में नीदरलैंड के टालोन ग्रिएक्सपुर के हाथों हार का सामना करना पड़ा था। हरियाणा के नागल ने इससे पहले यूएस ओपन के पहले दौर में स्विट्जरलैंड के रोजर फेडरर के खिलाफ पहला सेट जीता था, लेकिन वह मैच हार गए थे। उन्हें रोजर फेडरर से 6-4, 1-6, 2-6, 4-6 से हार का सामना करना पड़ा था।

उनके इस शानदार प्रदर्शन के बदालैत उन्हें 16 स्थानों का फायदा हुआ है। प्रजनेश गुणेश्वरन शीर्ष 100 में बरकरार रहने वाले एकमात्र भारतीय हैं। वह तीन स्थान के सुधार के साथ 82वें पायदान पर पहुंच गए हैं। रामकुमार रामनाथन तीन स्थान के नुकसान से 179वें पायदान पर हैं।

युगल में रोहन बोपन्ना और दिविज शरण क्रमश: 43वें और 49वें स्थान पर बने हुए है, जबकि लिएंडर पेस एक स्थान के सुधार के साथ 78वें स्थान पर हैं। डब्ल्यूटीए रैंकिंग में अंकिता रैना 191वें स्थान के साथ शीर्ष भारतीय हैं। प्रांजला यादलापल्ली 338वें स्थान पर है।

छठी वरीय भारत के सुमित नागल बोसनिया और हेरजेगोविना के बांजा लूका में चल रहे 48,600 यूरो की ईनामी राशि वाले चैलेंजर टेनिस टूर्नामेंट के फाइनल में हॉलैंड के टालोन ग्रिएक्सपुर से पराजित होकर खिताब से चूक गए। नागल ने टूर्नामेंट में शुरूआत से बढ़िया प्रदर्शन दिखाया लेकिन रविवार को हुए पुरुष एकल के फाइनल में उन्हें विपक्षी खिलाड़ी के हाथों 91 मिनट तक चले मुकाबले में लगातार सेटों में 2-6, 3-6 से पराजय झेलनी पड़ गई।