लंदन

ओवल मैदान पर खेले गए एशेज सीरीज के पांचवें और अंतिम टेस्ट मैच के चौथे दिन रविवार को इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया को 135 रनों से हरा दिया. इस जीत के बाद इंग्लैंड की टीम पांच मैचों की एशेज सीरीज 2-2 से ड्रॉ कराने में सफल रही. सीरीज ड्रॉ होने के बावजूद ऑस्ट्रेलिया का एशेज पर कब्जा बरकरार रहा. ऑस्ट्रेलिया ने पिछली बार एशेज सीरीज जीती थी, इसलिए यह एशेज कंगारुओं के पास ही बरकरार रहेगी.

30 साल के स्टीव स्मिथ ने इंग्लैंड में इस बार 'हूटिंग' के बीच मैदान पर कदम रखा था, लेकिन एशेज सीरीज की आखिरी पारी के बाद इस ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज का दर्शकों ने खड़े होकर स्वागत किया. रविवार को ऑस्ट्रेलिया की टीम मैच के चौथे दिन 399 रनों के विशाल लक्ष्य का पीछा कर रही थी, लेकिन स्मिथ महज 23 रन बनाकर लौट गए. सीरीज में ऐसा पहली बार हुआ, जब स्मिथ 50 रनों के निजी स्कोर को नहीं छू पाए.
दुनिया के नंबर-1 टेस्ट बल्लेबाज स्मिथ ने सीरीज के दौरान 110.57 की जबर्दस्त औसत के साथ 774 रन बनाए. इस दौरान उन्होंने क्रमश: 144, 142, 92, 211, 92, 80 और 23 रनों की इनिंग्स खेलीं. स्मिथ के ये 774 रन 1994 के बाद किसी टेस्ट सीरीज में सर्वाधिक रन है. 25 साल पहले ब्रायन लारा ने वेस्टइंडीज के खिलाफ सीरीज में 798 रन बनाए थे.

...लेकिन एक बड़ा संयोग यह देखने को मिला कि सुनील गावस्कर ने भी 1971 में वेस्टइंडीज सीरीज के दौरान 774 रन बनाए थे. फर्क इतना है कि तब सुनील गावस्कर ने अपनी डेब्यू सीरीज में विंडीज के खिलाफ जोरदार बल्लेबाजी करते हुए 774 रन बनाए थे, जो आज भी पांच मैचों की डेब्यू सीरीज में सर्वाधिक रनों का वर्ल्ड रिकॉर्ड है.

मजे की बात है कि स्टीव स्मिथ मौजूदा एशेज सीरीज के पांच टेस्ट मैचों में से 4 टेस्ट ही खेल पाए और 774 रन बनाए. स्मिथ चोटिल होने की वजह से तीसरे टेस्ट में नहीं खेल पाए थे. दूसरी तरफ सुनील गावस्कर भी 1971 में वेस्टइंडीज के खिलाफ 5 टेस्ट मैचों की सीरीज के 4 टेस्ट मैच ही खेल पाए थे और 774 रन बनाए थे. तब गावस्कर उंगली में चोट की वजह से सीरीज का पहला टेस्ट मैच नहीं खेल पाए थे.

 

एक टेस्ट सीरीज में सर्वाधक रन -

1. डॉन ब्रैडमैन (ऑस्ट्रेलिया) - 5 टेस्ट, 7 पारियां, 974 रन (विरुद्ध इंग्लैंड-1930)

2. वॉली हेमंड (इंग्लैंड)- 5 टेस्ट, 9 पारियां, 905 रन, (विरुद्ध ऑस्ट्रेलिया- 1928/29)

3. मार्क टेलर (ऑस्ट्रेलिया)- 6 टेस्ट, 11 पारियां, 839 रन, (विरुद्ध इंग्लैंड- 1989)

4. नील हार्वे (ऑस्ट्रेलिया)- 5 टेस्ट, 9 पारियां, 834 रन, (विरुद्ध साउथ अफ्रीका- 1952/53)

5. विव रिचर्ड्स (वेस्टइंडीज)- 4 टेस्ट, 7 पारियां, 829 रन, (विरुद्ध इंग्लैंड- 1976)

6. क्लाइव वॉल्कॉट (वेस्टइंडीज)- 5 टेस्ट, 10 पारियां, 827 रन, (विरुद्ध ऑस्ट्रेलिया- 1955)

7. गैरी सोबर्स (वेस्टइंडीज)- 5 टेस्ट, 8 पारियां, 824 रन, (विरुद्ध पाकिस्तान- 1957/58)

8. डॉन ब्रैडमैन (ऑस्ट्रेलिया)- 5 टेस्ट, 9 पारियां, 810 रन, (विरुद्ध इंग्लैंड- 1936/37)

9. डॉन ब्रैडमैन (ऑस्ट्रेलिया)- 5 टेस्ट, 5 पारियां, 806 रन, (विरुद्ध साउथ अफ्रीका- 1931/32)

10. ब्रायन लारा (वेस्टइंडीज)- 5 टेस्ट, 8 पारियां, 798 रन, (विरुद्ध इंग्लैंड- 1993/94)

11. एवर्टन वीक्स (वेस्टइंडीज)- 5 टेस्ट, 7 पारियां, 779 रन, (विरुद्ध भारत- 1948/49)

12. स्टीव स्मिथ (ऑस्ट्रेलिया)- 4 टेस्ट, 7 पारियां, 774 रन, (विरुद्ध इंग्लैंड- 2019)

13. सुनील गावस्कर (भारत)- 4 टेस्ट, 8 पारियां, 774 रन, (विरुद्ध वेस्टइंडीज- 1970/71 )