पटना    
चार वर्षीय इंटीग्रेटेड बीएड कोर्स की पहली संयुक्त प्रवेश परीक्षा रविवार को राजधानी के कई केंद्रों पर आयोजित की गई। परीक्षा के बाद छात्र- छात्राओं ने बताया कि प्रश्न सामान्य स्तर के थे और विज्ञान और सामान्य ज्ञान के प्रश्नों का अधिकतर छात्रों ने सहजता से उत्तर दिया।

परीक्षा में कुल 120 प्रश्न परीक्षा में पूछे गए थे। एक प्रश्न के सही उत्तर पर एक अंक का प्रावधान किया गया था। राज्य के कुल 24 केंद्रों पर यह परीक्षा आयोजित की गई थी। नालंदा खुला विवि परीक्षा केंद्र (बिस्कोमान भवन) में दूसरे छात्र की जगह परीक्षा देते एक युवक को मौके से पकड़ा गया। उसे पुलिस के हवाले कर दिया गया। परीक्षा हॉल में मौजूद कागजात से युवक का चेहरा मिलान कराया गया। इसके बाद जांच में गलत पाए जाने से उसे परीक्षा से निष्कासित कर दिया गया।

इंटीग्रेटेड स्नातक बीएड संयुक्त प्रवेश परीक्षा के लिए 19,351 विद्यार्थियों ने आवेदन किये थे। इनमें 17,987 विद्यार्थी परीक्षा में शामिल हुए। अर्थात लगभग 93 प्रतिशत उपस्थिति रही। परीक्षा के लिए पटना में 18 और मुजफ्फरपुर में छह केंद्र बनाए गए थे। इस कोर्स के लिए 400 सीटें निर्धारित की गई हैं। सभी 400 सीटें सिर्फ मुजफ्फरपुर के चार कॉलेजों में हैं।

संयुक्त प्रवेश परीक्षा के नोडल पदाधिकारी डॉ. एसपी सिन्हा के मुताबिक रिजल्ट 20 सितंबर को आ जाएगा। उसके बाद काउंसिलिंग की प्रक्रिया प्रारंभ होगी। 24 सितंबर को काउंसिलिंग होनी है। अभी काउंसिलिंग का स्थान तय नहीं हुआ है। 28 -29 सितंबर तक नामांकन ले लेना होगा।

सभी सेक्शन से प्रश्न बीडी कॉलेज में परीक्षा देने वाले आरके रौशन ने बताया कि सामान्य ज्ञान, गणित, विज्ञान से प्रश्न थे।सभी आसान थे। एक अन्य छात्रा स्मिता ने बताया कि शिक्षक योग्यता सेक्शन के प्रश्न छोड़कर सभी आसान लगे। बीडी कॉलेज में ही परीक्षा देने वाले विकास कुमार ने भी प्रश्नों का स्तर सामान्य बताया। उसे विज्ञान का प्रश्न ज्यादा आसान लगा। परीक्षार्थियों के फीडबैक से संभावना जताई जा रही है कि कटऑफ ऊंचा रहेगा क्योंकि प्रश्न आसान थे। ज्यादातर परीक्षार्थियों ने सभी प्रश्नों के उत्तर दिए।