जयपुर
राजस्थान भाजपा के नवनियुक्त अध्यक्ष सतीश पुनिया ने कहा है कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) देश ही नहीं, बल्कि दुनिया को दिशा देने की ताकत रखता है। मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा कि आज भारत माता की जयकार और वंदेमातरम गूंजता है और तिरंगे को जो मान मिलता है, उसमें संघ का बड़ा योगदान है। सतीश पूनिया संघ के स्वयसेवक रहे हैं और अपनी राजनीति की शुरुआत उन्होंने अखिल भारतीय विदयार्थी परिषद से की थी।

अध्यक्ष बनने के बाद रविवार को भाजपा मुख्यालय में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जीवन पर आधारित प्रदर्शनी के उद्घाटन के मौके पर मीडिया से बातचीत में राष्ट्रनिर्माण में संघ की भूमिका पर उन्होंने कहा कि अगर संघ नहीं होता तो शायद देश नहीं होता। सबको पता है देश का विभाजन किसने कराया है, लेकिन संघ ने राष्ट्रीयता की भावना और संस्कारों की अलख जगाई है। संघ से राष्ट्रीय स्वाभिमान की धमक पूरी दुनिया में बढ़ी हैं। संघ ने ही बहुसंख्यक हिंदुओं की चेतना जागृत की है। दीनदयाल जयंती आयोजन के सवाल पर पूनिया ने कहा कि मुझे पूरा विश्वास है कि कांग्रेस सरकार जयंती नहीं मनाएगी, लेकिन भाजपा महात्मा गांधी की 150 वीं वर्षगांठ जरूर मनाएगी।

गौरतलब है कि राजस्थन भाजपा के अध्यक्ष पद पर उनकी नियुक्ति के पीछे भी संघ से उनका जुड़ाव अहम कारण माना जा रहा है। ऐसे में उनके इस बयान को राजस्थान भाजपा में संघ के बढ़ते प्रभाव के रूप में देखा जा रहा है। राजस्थान भाजपा में वर्ष 2003 से लेकर 2018 के विधानसभा चुनाव तक पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और उनके समर्थक हावी रहे हैं और राजस्थान में पार्टी राजे और संघनिष्ठ नेताओं के बीच बंटी नजर आती रही है। अब पुनिया के आने के बाद यह माना जा रहा है कि पार्टी में राजे और उनके समर्थकों का वर्चस्व खत्म होगा तथा एक बार फिर संघनिष्ठ नेताओं और कार्यकर्ताओं का प्रभाव बढ़ेगा।