वजन कम करने को लेकर बहुत से लोग संघर्ष करते हैं, क्योंकि जैसे-जैसे आपकी उम्र बढ़ती है, मोटापा बढ़ने लगता है। मोटापा अपने आप में कई बीमारियों का एक बड़ा कारण है। इसलिए जरूरी है कि आप उम्र के साथ वजन नियंत्रित कर लें। स्वीडन में कारोलिंस्का इंस्टिट्यूट में नए शोध ने खुलासा किया है कि जब व्यक्ति की उम्र बढ़ती है, उस दौरान फैट टिश्यू में लिपिड का उत्पादन कम हो जाता है और वजन आसानी से बढ़ जाता है। यह अध्ययन नेचर मेडिसिन जर्नल में प्रकाशित हुआ। वैज्ञानिकों ने इस अध्ययन को 13 साल में पूरा किया। इस दौरान 54 पुरुषों और महिलाओं में फैट सेल्स का अध्ययन किया। इसमें फैट टिश्यू में लिपिड के उत्पादन में कमी देखी गई।

उम्र बढ़ने के साथ शरीर कैलरी का उपयोग कई तरीकों से करने लगता है। व्यक्ति अपना खानपान भी पहले के समान ही रखने की कोशिश करता है, लेकिन उम्र बढ़ने के साथ शरीर वयस्क के समान कैलरी नहीं ले पाता, जो वजन बढ़ने के कारणों में से एक है।
• उम्र के साथ वजन बढ़ने को रोकने और वजन को कंट्रोल रखने के लिए जरूरी है कि आप खानपान में बदलाव करें। यानी डाइट में कम कैलरी शामिल करें।

• रात में कम यानी हल्का खाना खाएं और खाने के बाद थोड़ा टहलें जरूर। कोशिश करें कि बच्चे की तरह बार-बार खाने की आदत से बचें। क्योंकि इस उम्र में आपको बार-बार भूख लगने लगती है।

• नियमित व्यायाम को अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनाएं।

अध्ययन से पता चलता है उम्र बढ़ने के साथ शरीर में फैट टिश्यू में लिपिड उत्पादन की कमी शरीर में चर्बी बढ़ने या वजन बढ़ने का एक बड़ा कारण है।

हॉर्मोंस का असंतुलन
उम्र के साथ आपके शरीर में कई हॉर्मोनल बदलाव आते हैं, जिनकी वजह से वजन बढ़ सकता है। पुरुषों में टेस्टोरेटॉन के स्राव कम होने से शरीर में चर्बी की मात्रा बढ़ने लगती है। वहीं महिलाओं में एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरॉन के असंतुलन के कारण वजन बढ़ता है।

मेटाबॉलिजम में उतार-चढ़ाव
40-50 की उम्र के बाद आपके मेटाबॉलिजम में काफी उतार-चढ़ाव आता है। बढ़ती उम्र में अधिकतर लोगों में मेटाबॉलिजम दर घटने लगती है, जिसकी वजह से आपका वजन या चर्बी बढ़ने लगती है।