खाने में दही और छाछ कई लोगों को पसंद होता है। जब इनके फायदे की बात आती है तो कई बार लोग छाछ को ज्यादा फायदेमंद बताते हैं। कई लोग यह भी कहते हैं कि बारिश के मौसम में दही के बजाय छाछ लेना चाहिए। अब सवाल उठता है कि छाछ दही को डायल्यूट करके ही बनाया जाता है तो यह ज्यादा फायदेमंद कैसे हुआ! यहां जानते हैं...

छाछ क्यों है बेहतर
जब दही को मथकर छाछ बनाया जाता है तो इसका रूप बदल जाता है जो कि जल्दी पचता है और पचाने में आसान होता है। इस तरह से यह डाइजेशन के लिए भी अच्छा बन जाता है और दही की जगह तरावट देने वाले पेय के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है।

छाछ के फायदे
अच्छे डाइजेशन और डिहाइड्रेशन से बचाने के अलावा छाछ मसालेदार खाने के बाद पेट को राहत देता है। यह कैल्शियम का बेहतरीन सोर्स है और इसे लैक्टोज न पचाने वाले लोग भी ले सकते हैं। इसमें विटमिन पाए जाते हैं और यह बहुत हेल्दी होता है।

और भी हैं फायदे
एक स्टडी में भी यह साबित हुआ है कि छाछ में बायोऐक्टिव प्रोटीन होता है जो कि कॅलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करता है। एक स्टडी के मुताबिक यह हाई ब्लड प्रेशर को भी कंट्रोल करता है।

कब लें दही की जगह छाछ
छाछ बेहद फायदेमंद है फिर भी कुछ परिस्थितियों में छाछ की जगह दही लेना बेहतर होता है जैसे, जो लोग वजन बढ़ाना चाहते हैं या जिन बच्चों में पोषण की कमी है वे दही लें क्योंकि इसमें पोषक तत्वों का कंसंट्रेशन ज्यादा होता है। जो लोग लिक्विड डायट से परहेज में हैं और उन्हें प्रोटीन चाहिए जैसे किडनी के मरीज, वे दही ले सते हैं।