Close X
Sunday, November 18th, 2018

बिजली बिल माफ़ी योजना कार्यक्रम में मंत्री की फिसली जबान

डिंडौरी
डिंडौरी में आयोजित मुख्यमंत्री बकाया बिजली बिल माफ़ी योजना कार्यक्रम में मंत्री ओमप्रकाश धुर्वे सरकार की उपलब्धियां गिनाते गिनाते बदजुबानी कर बैठे.सत्ता के नशे में चूर मंत्री ने जब मंच से बोलना शुरू किया तो कांग्रेसियों पर अपशब्दों और गालियों की झड़ी लगा दी.मंत्री कांग्रेस को कोसते हुये यह बताना चाह रहे थे कि कांग्रेस ने कभी गरीबों और आदिवासियों का विकास नहीं किया उल्टा 15 लीटर शराब बनाने की छूट देकर आदिवासियों को ठगने का काम किया.धुर्वे यही नहीं रुके, उन्होंने खुद को बड़ा मंत्री बताते हुए राज्य मंत्री पद की उपेक्षा करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी. धुर्वे ने कहा कि राज्य मंत्रियों की बात चपरासी भी नहीं सुनता है.

मंत्री ओमप्रकाश धुर्वे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा की गई नोटबंदी की नई परिभाषा भी गढ़ डाली. धुर्वे का कहना है कि कांग्रेस के शासन में हुए भ्रष्टाचार और घोटालों के रकम को सरकारी खजाने में वापस लाने के लिए नोटबंदी का अहम निर्णय प्रधानमंत्री मोदी ने लिया.नोटबंदी से वापस आई रकम से ही अब सरकार पीएम आवास योजना,उज्ज्वला योजना जैसे अन्य कई जनकल्याणकारी योजनाएं संचालित कर रही है. हैरत की बात तो यह है कि इस सरकारी कार्यक्रम में मौजूद लोगों से मंत्री धुर्वे ने बीजेपी में वोट करने की हामी भरवा ली जबकि कार्यक्रम के दौरान मंच में कलेक्टर एसपी सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे.

Source : Agency

संबंधित ख़बरें

आपकी राय

6 + 15 =

पाठको की राय