Monday, September 24th, 2018

सीएम एचडी कुमारस्वामी वापस ले सकते हैं बढ़ाए गए टैक्स?

बेंगलुरु 
कर्नाटक में कांग्रेस और जनता दल सेक्युलर के बीच गठबंधन की सरकार के पहले बजट को पेश करते हुए मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने एक ओर किसानों का कुछ कर्ज माफ किया और दूसरी ओर ईंधन पर टैक्स बढ़ा दिया। खबर है कि अब कांग्रेस सीएम पर ईंधन पर लगे टैक्स और गरीबी रेखा के नीचे रहने वाले लोगों के लिए अनाज की मात्रा को कम करने के फैसले को वापस लेने के लिए कह रही है। माना जा रहा है कि सीएम सदन में इस बारे में घोषणा कर सकते हैं। समन्वय समिति के अध्यक्ष सिद्धारमैया ने बुधवार को सीएम से इन फैसलों को वापस लेने के लिए कहा है क्योंकि इनका सीधा असर आम जनता पर पड़ेगा। गौरतलब है कि कुमारस्वामी ने 5 जुलाई को बजट पेश करते हुए ईंधन कर को 2 प्रतिशत बढ़ाने की घोषणा की थी। इसके साथ ही उन्होंने जनवितरण प्रणाली के तहत हर महीने एक व्यक्ति को मुफ्त दिए जाने वाले चावल को 7 किलो की जगह 5 किलो करने और तूर की दाल को 1 किलो से घटाकर 500 ग्राम करने की घोषणा की थी। 

झेलना पड़ा विरोध 
इन घोषणाओं से विपक्षी भारतीय जनता पार्टी के साथ ही गठबंधन के विधायकों से भी विरोध झेलना पड़ा था। जेडी(एस) सीनियर विधायक विश्वनाथ ने सीएम से बदले हुए कर वापस लेने के लिए कहा जबकि कांग्रेस विधायक ने राशन को कम करने की आलोचना की। ये सभी मंगलवार को बजट पर सदन में बहस कर रहे थे। 

सिद्धारमैया ने सीएम को लिखा पत्र 
इस मुद्दे को कांग्रेस लेजिस्लेचर पार्टी में भी बुधवार को उठाया गया जहां कांग्रेस के कुछ विधायकों ने सीनियर नेताओं से सीएम पर दबाव बनाने के लिए कहा। पैलेस ग्राउंड्स पर आयोजित कार्यक्रम में दिनेश गुंडुराव ने केपीसीसी के नए अध्यक्ष के रूप में भार संभाला। पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए सिद्धारमैया ने कहा कि उन्होंने सीएम को चिट्ठी लिखी है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस बीजेपी से राष्ट्रीय स्तर पर ईंधन की कीमतों के लिए लड़ रही है। अगर वह कर्नाटक में कीमत बढ़ा देते हैं तो हार जाएंगे। 
 

Source : agency

संबंधित ख़बरें

आपकी राय

9 + 15 =

पाठको की राय