Saturday, September 22nd, 2018

बड़े बिजली बिलों को किसानों के गले का फंदा न बनने दूंगा : शिवराज

भोपाल

बुधवार को प्रदेश भर में ऊर्जा विकास पर्व मनाया गया। जावरा में आयोजित मुख्‍य समारोह को संबोधित करते हुए मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि वे बिजली के बड़े-बड़े बिलों को किसानों के गले का फंदा नहीं बनने देंगेपुराने बकाया बिलों को माफ कर किसानों को बोझ से मुक्त किया गया है। गरीबों को प्रदेश में 200 रुपये प्रतिमाह की दर से बिजली उपलब्ध कराई जाएगी।

मप्र विकास पर्व के अंतर्गत आयोजित इस कार्यक्रम में चौहान ने मुख्यमंत्री जनकल्‍याण योजना (संबल) के लाभार्थियों को सरल बिजली बिल तथा बकाया बिजली बिल माफी योजना और अन्य हितग्राहियों को विभिन्न शासकीय योजनाओं का हितलाभ प्रदान किया। साथ ही मंदसौर के सुवासरा में निर्मित 250 मेगावाट के सोलर प्लांट, 220 केवी के सुवासरा उपकेंद्र का लोकार्पण और 400 केवीए के सीतामऊ उपकेंद्र सहित अन्य सोलर प्लांट का शिलान्यास भी किया। चौहान ने कहा कि हम प्रदेश को विकास के मार्ग पर आगे ले जा रहे हैं। आज ही सौर ऊर्जा और बिजली के 7800 करोड़ रुपए के विकास कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास किया है। ये बताते हुए प्रसन्नता है कि उज्जैन संभाग में शत-प्रतिशत बिजली कनेक्शन कर दिया गया है। कार्यक्रम में चौहान ने आह्वान किया कि सभी बेटियों के सम्मान, गरीब और वंचित वर्ग के कल्याण के लिए काम करने का संकल्प लेकर मध्यप्रदेश के विकास में अपना पूरा योगदान दें। पेड़ हमें प्राणदायी ऑक्सीज़न देते हैं। अपने हिस्से की ऑक्सीज़न की व्यवस्था तो हम करें इसके लिए कम से कम एक पेड़ अपने आस-पास लगाने का संकल्प हम लें। हमारे प्रयासों से ही मध्यप्रदेश देश का उत्कृष्ट राज्य बन सकेगा।

उन्‍होंने कहा कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी के दर्शन को आत्मसात कर हम गरीबी दूर कर रहे हैं। इसके लिए हमने मुख्यमंत्री जन कल्‍याण योजना (संबल) शुरू की है, जिससे आपको शिक्षा, स्वास्थ्य, आवास सहित सामाजिक सुरक्षा के लिए सभी प्रकार की सुविधाएं दी जा रही हैं। मुख्यमंत्री जन कल्‍याण योजना के तहत हम मृत्यु की दशा में भी मदद कर रहे हैं। किसी गरीब के घर में 60 साल की उम्र से पहले परिवार के मुखिया की मृत्यु होगी तो 2 लाख रुपए और दुर्घटना में मृत्यु होने पर 4 लाख रुपए दिए जाएंगे, ताकि गरीब का परिवार भी जी सके। गरीब के भी बच्चे पढ़ सकें, अपनी प्रतिभा के बल पर ऊंचे पदों पर पहुँच सकें इसलिए उनकी शिक्षा की फीस हमारी सरकार भरेगी। कोई गरीब बच्चा होटल में काम करने या पत्थर तोड़ने के लिए मजबूर नहीं होगा।

जिलों में हुए आयोजन

प्रदेश में अधोसंरचना ऊर्जा विकास पर्व के उपलक्ष्य में जिला मुख्यालयों पर कार्यक्रम आयोजित किये गये। कार्यक्रमों में मुख्यमंत्री बकाया बिजली बिल माफी स्कीम के हितग्राहियों को प्रमाण-पत्र वितरित किये गये और विकास कार्यों का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया गया। दतिया में जनसम्पर्क, जल-संसाधन एवं संसदीय कार्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्र ने हितग्राहियों को बिजली बिल माफी योजना के प्रमाण-पत्र वितरित किये और 19 करोड़ लागत के विद्युत अधोसंरचना कार्यों का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। दमोह जिला मुख्यालय पर आयोजित कार्यक्रम में वित्त और वाणिज्यिक कर मंत्री जयंत मलैया ने हितग्राहियों को बिजली बिल माफी के प्रमाण-पत्र वितरित किये। रीवा में जिला मुख्यालय पर आयोजित कार्यक्रम में उद्योग मंत्री राजेन्द्र शुक्ल ने बिजली बिल माफी के प्रमाण-पत्र वितरित कर कार्यक्रम को संबोधित किया।

 

Source : Agency

संबंधित ख़बरें

आपकी राय

12 + 9 =

पाठको की राय