Monday, September 24th, 2018

इस एक्सर्साइज से जल्दी घटेगा वजन


अक्सर हम खाने में जरूरत से ज्यादा कैलरी का सेवन करते हैं और बाद में उसे बर्न भी नहीं करते जिसके चलते मोटापा बढ़ता जाता है। बढ़े हुए मोटापे को लोग जल्द से जल्द कम करना चाहते हैं और इसके लिए जिम में जी तोड़ मेहनत भी करते हैं, लेकिन मोटापे के लिए जो जरूरी एक्सर्साइज है, उस पर ध्यान नहीं देते। अगर आप भी मोटापा कम करने की कोशिश में जुटे हैं तो हम आपको बता रहे हैं एक ऐसी एक्सर्साइज के बारे में जिसे करके आप एक महीने में ही अपना काफी वजन घटा सकते हैं। इस एक्सर्साइज का नाम है पिलाटीज। पिलाटीज एक तरह की कोर ट्रेनिंग है जिसमें प्लैंक, साइड प्लैंक, बॉल प्लैंक, ब्रिज सहित कई सारी एक्सर्साइजेज होती हैं। खास बात यह है कि इसे आप घर बैठकर भी कर सकते हैं...

कैलरी का कमाल है क्या?
हमारी सभी दैनिक शारीरिक क्रियाओं के लिए कैलरी जरूरी है। पतला होने के लिए हमें कितनी कैलरी का उपभोग करना चाहिए, ये हमारे शरीर के वजन, लंबाई, उम्र, जीवनशैली और फिजिकल ऐक्टिविटी पर निर्भर करता है। पिलाटीज करने से पहले यह जानना जरूरी है कि हमारे शरीर के लिए कितनी कैलरी लेना जरूरी है। डॉक्टर्स कहते हैं कि एक व्यस्क पुरुष को स्वस्थ रहने के लिए रोजाना 2500 कैलरी की जरूरत होती है और औरत को 2000 कैलरी की जरूरत पड़ती है, लेकिन वजन कम करने के लिए दोनों को 1200 से 1600 कैलरी ही लेनी चाहिए। हमारे शरीर में अगर 3500 कैलरी है, तो वह 1 किलो फैट के बराबर है। इस तरह अगर हम अपने रोज के खाने में 500 कैलरी कम करते हैं, तो आधा किलो और अगर 1 हजार कैलरी तक कम कर दें तो 1 किलो वजन एक हफ्ते में कम हो सकता है।

कैलरी बर्न करने के लिए बेस्ट एक्सर्साइज
शरीर की कैलरी को बर्न करने के लिए पिलाटीज सबसे बढ़िया एक्सर्साइज है। दरअसल यह एक ऐसी एक्सर्साइज है, जिसे फिजिकल स्ट्रेंथ, फ्लेक्सिबिलिटी और पॉश्चर को इंप्रूव करने के लिए लिहाज से बनाया गया है। इसे जोसेफ पिलाटीज ने विकसित किया था। बॉलिवुड और हॉलिवुड स्टार्स के साथ ही बड़ी संख्या में लोग पिलाटीज के दीवाने बनते जा रहे हैं।


स्पाइनल कॉर्ड और थाई मसल्स के लिए बेहतर
पिलाटीज एक्सर्साइज करने से जहां एक तरफ मोटापा तेजी से घटता है। वहीं इससे मांसपेशियों में मजबूती भी आती है। यह स्पाइनल कॉर्ड, थाई मसल्स और बोन जॉइंट मसल्स के लिए काफी बेहतर और आरामदायक है। इसे करते वक्त कूल रहना पड़ता है। पिलाटीज के 10 से 12 वर्जन होते हैं। अगर हम इस पूरी एक्सर्साइज को करते हैं, तो इसमें करीब 45 मिनट लगते हैं। इससे शरीर की स्ट्रेंथ भी बढ़ती है।

वजन नहीं उठाना चाहते तो करें पिलाटीज
वैसे तो पहले लोगों को पिलाटीज के बारे में ज्यादा जानकारी नहीं थी, लेकिन पिछले एक साल में लोग इसके प्रति काफी जागरूक हुए हैं। जो लोग ज्यादा वजन उठाने से झिझकते हैं, वह पिलाटीज के सहारे अपना वजन तेजी से कम कर सकते हैं।

ब्लड सर्कुलेशन होता है बेहतर
फिजिशन डॉ आर एन कालरा कहते हैं कि कई बार हमारे पास भी ऐसे मरीज आते हैं, जिन्हें हम पिलाटीज के एक-दो वर्जन करने की सलाह देते हैं। इससे वजन कम होने के साथ हार्ट में ब्लड सर्कुलेशन काफी अच्छे से हो पाता है। ऐसा इसलिए क्योंकि निरंतर इस एक्सरसाइज के करने से हार्ट तक ब्लड पहुंचाने वाली नलिकाएं साफ हो जाती हैं। ब्लड का प्रवाह अच्छा हो जाता है। यह मेंटल अवेयरनेस को भी बेहतर बनाती है।

Source : Agency

संबंधित ख़बरें

आपकी राय

13 + 8 =

पाठको की राय