Saturday, September 22nd, 2018

लिम्का बुक में तीसरी बार दर्ज कराया नाम, राखी ने मोम और कोयले के बाद बनाई फेविकोल की ड्रेस

आगरा
आगरा की बेटी राखी गुप्ता की नए प्रयोगों को लेकर कुछ अनूठा और निराला करने की सोच ने ही एक बार फिर ताजनगरी को गौरवांवित होने का अवसर दिया है। अब तक 2 बार लिम्का बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज कर चुकीं राखी ने तीसरी बार भी यह कीर्तिमान अपने नाम दर्ज कर लिया है। करीब 60 दिन में 5 किलो फैविकोल के साथ विज्ञान को फैशन डिजाइनिंग के साथ जोड़कर उसने कई प्रयोग किए और फिर आखिरकार फैविकोल ड्रेस बना दी।

राखी के अनुसार उन्हें फैविकोल से शॉर्ट ड्रेस बनाने में कई प्रयोग करने पड़े थे। तमाम प्रयोगों में असफलता मिली लेकिन नया करने की सोच ने उन्हें हारने नहीं दिया। राखी की इस ड्रेस पर ब्लॉक प्रिटिंग के साथ धागों और मोतियों की कढ़ाई भी हो रखी है। राखी ने नवम्बर 2016 में अपने इस अनूठे प्रयोग पर कार्य करना शुरू किया था, जोकि जनवरी 2017 में पूरा हुआ। कुछ दिन पूर्व जब लिम्का बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड का प्रमाण पत्र उन्हें प्राप्त हुआ तब उन्होंने मीडिया से यह जानकारी सांझा की। वर्तमान में राखी बरेली में रह रही हैं।

मोम और कोयले की ड्रेस भी रहीं खास
फैशन डिजाइनिंग का कोर्स करने के बाद 2016 में राखी ने पहला लिम्का बुक ऑफ  वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया था। पहला प्रयोग करते हुए राखी ने मोम और तारों का इवनिंग गाऊन तैयार किया था। 5 फीट लंबे और करीब 5 किलो वजनी गाऊन को एक माह में राखी ने तैयार किया था। इसके बाद 2017 में कोयले और तार की ड्रेस तैयार की। यह नया प्रयोग भी लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज हुआ।

बीमारों की मदद को करती है फैशन शो
आगरा में जन्मी राखी के पिता डॉं एससी गुप्ता मानसिक आरोग्यशाला में चिकित्सक थे और मां गृहिणी। उनके दोनों भाई-बहन भी चिकित्सक हैं लेकिन राखी को फैशन की दुनिया ने अपनी ओर आकर्षित किया। दिल्ली के जेडी इंस्टीच्यूट से फैशन डिजाइनिंग की पढ़ाई करने के बाद से राखी बीमारों की सहायता के लिए चौरिटी शो भी करती है।

Source : Agency

संबंधित ख़बरें

आपकी राय

2 + 12 =

पाठको की राय