पटना
 बिहार में एक लोकसभा व पांच विधानसभा सीटों के लिए उपचुनाव  होने हैं। इस उपचुनाव को आगामी विधानसभा चुनाव  के सेमीफाइनल के तौर पर देखा जा रहा है। लेकिन इसमें विपक्षी महागठबंधन  दो-फाड़ दिख रहा है। कांग्रेस  ने पांच में से तीन विधानसभा सीटों पर दावा ठोक दिया है तो राष्‍ट्रीय जनता दल चार सीटों पर चुनाव लड़ने की तैयारी में है।

कांग्रेस का तीन विस व एक लोस सीट पर दावा
विधानसभा की पांच सीटों पर उपचुनाव में सभी दल अभी से जुट गए हैं। विपक्षी महागठबंधन की बात करें तो कांग्रेस ने अभी से ही तीन सीटों पर दावा ठोक दिया है। कांग्रेस नेता सदानंद सिंह  ने कहा है कि पार्टी अपना जनाधार बढ़ाने को लेकर गंभीर है। उन्‍होंने पांच विधानसभा सीटों में से सिमरी बख्तियारपुर, नाथनगर और किशनगंज पर अपना दावा किया है। साथ ही समस्तीपुर की लोकसभा सीट पर भी कांग्रेस ने दावा किया है।

चार विस सीटों पर चुनाव लड़ने की तैयारी में आरजेडी
दूसरी ओर आरजेडी चार सीटों पर चुनाव लड़ने की तैयारी कर रही है। आरजेडी ने कांग्रेस को साफ लहजे में कहा है कि वह अपनी औकात में रहे। पार्टी के विधायक विजय प्रकाश  ने बिहार में आरजेडी को बड़ी पार्टी बताते हुए बड़ी दावेदारी की बात कही है। उन्‍होंने कहा कि बिहार के नेताओं के दावों का कोई मतलब नहीं, सबकुछ दिल्‍ली में आरजेडी के बड़े नेताओं से बात कर सोनिया गांधी  तय करेंगी।

उपचुनाव को लेकर महागठबंधन में दरार सतह पर
स्‍पष्‍ट है, बिहार में उपचुनाव को लेकर महागठबंधन में दरार सतह पर है। कांग्रेस व आरजेडी के बीच सीटों को लेकर इस तनातनी के मद्देनजर आगामी विधानसभा चुनाव में महाभारत को तय माना जा रहा है। बिहार में कांग्रेस ने ठान लिया है कि वह महागठबंधन में पिछलग्गू बनकर नहीं रहेगी तो आरजेडी 'बड़े भाई' की भूमिका को छोड़ने के लिए तैयार नहीं। आरजेडी पार्टी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बेटे तेजस्‍वी यादव  के नेतृत्‍व में विधानसभा चुनाव लड़ने की घोषणा पहले ही कर चुकी है। अब आगे-आगे देखिए क्‍या होता है।