ग्वालियर
केन्द्रीय संस्कृति एवं पर्यटन राज्य मंत्री(स्वतंत्र प्रभार) प्रह्लाद पटेल ने मुख्यमंत्री कमलनाथ पर तंज कसते हुए कहा कि "कांग्रेस और कमलनाथ से नैतिकता की उम्मीद नहीं की जा सकती। वे ग्वालियर में पत्रकारों के सवालों का जवाब दे रहे थे।

केन्द्रीय मंत्री प्रह्लाद पटेल मंगलवार को एक दिवसीय प्रवास पर ग्वालियर आये। उन्होंने केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर के घर आर्य नगर मुरार जाकर उनकी मां शारदा देवी के निधन पर शोक जताया। उसके बाद वे ग्वालियर किले पहुंचे । उन्होंने वहां मान मंदिर पैलेस और ASI का म्यूजियम देखा। वे IITTM यानि भारतीय पर्यटन एवं यात्रा प्रबंध संस्थान भी गए और फेकल्टी मेंबर एवं स्टूडेंट्स से बातचीत की। दोनों जगह के निरीक्षण के बाद उन्होंने पत्रकारों से बात करते हुए ग्वालियर एवं मुरैना के आसपास के पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए मिलजुलकर प्रयास करने होंगे। उन्होंने कहा कि विदेश से आने वाला पर्यटक शांति यानि पीस चाहता है इसलिए हमें उसे उसका अहसास कराना होगा और इस क्षेत्र के बारे में चली आ रही धारणा को बदलना होगा। उन्होंने इस काम के लिए मीडिया से सहयोग मांगते हुए कहा कि हमें एक ऐसी वर्कशॉप करनी चाहिए जिसमें हम सब मिलकर पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए मैप तैयार करें।

1984 के सिख दंगों से जुड़े सवाल का जवाब देते हुए प्रह्लाद पटेल ने कहा कि संसद में ये मुद्दा मैंने ही उठाया था। इसलिए मैं सिख भाइयों से अपील करता हूँ कि वे कांग्रेस और कमलनाथ से नैतिकता की उम्मीद बिलकुल ना करें। गौरतलब है कि हालही में सिख दंगों की फाइलें खुलने और उसमें कमलनाथ का नाम आने की ख़बरों से सियासत गरमाई हुई है।