वॉशिंगटन
लंबे समय तक ईरान से तनातनी के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ईरान से बात करने को तैयार हो गए हैं। अमेरिका के वित्त मंत्री स्टीवन म्नुचिन ने कहा है कि राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप अपने ईरानी समकक्ष हसन रूहानी से बिना शर्त मिलने को तैयार हैं। हालांकि, तेहरान पर दबाव जारी रहेगा।

म्नुचिन ने कहा, 'राष्ट्रपति ने स्पष्ट कर दिया है कि उन्हें बिना शर्त बैठक करने पर खुशी होगी लेकिन हम ईरान पर अधिकतम दबाव बनाए रखेंगे।' अमेरिका का यह रुख ईरान के उस बयान के एक दिन बाद आया है, जिसमें उसने अपने संवर्धित यूरेनियम भंडार को बढ़ाने के लिए सेंट्रीफ्यूज को सक्रिय करने की घोषणा की थी।

गौरतलब है कि पिछले साल मई में अमेरिका और ईरान के बीच तनाव उस समय बढ़ गया था जब राष्ट्रपति ने तेहरान के साथ 2015 में हुए परमाणु समझौते से अलग होने की घोषणा की और ईरान पर दोबारा आर्थिक प्रतिबंध लगा दिए। अमेरिकी प्रतिबंध के बाद भारत चीन सहित तमाम मुल्कों ने ईरान से तेल आयात रोक दिया था।

आपको बता दें कि ईरान ने अमेरिका के एक ड्रोन को मार गिराया है, जिसके बाद भड़के राष्ट्रपति ट्रंप ने हमले का आदेश भी दे दिया था लेकिन 10 मिनट पहले इसे रोक दिया। हमला भले ही रुक गया हो पर तनाव बरकरार रहा। अब दुनिया की निगाहें एक बार फिर अमेरिकी-ईरान पर है।