नई दिल्ली

यस बैंक के सह-संस्थापक राणा कपूर अपनी हिस्सेदारी बेचना चाहते हैं और वह इसके लिए Paytm के संस्थापक विजय शेखर शर्मा से बातचीत में लगे हैं. पिछले महीने कपूर ने यस बैंक की अपनी हिस्सेदारी बेचने की शर्मा को पेशकश की है. खबरों के मुताबिक करीब 2,000 करोड़ रुपये में वह अपने साथ अपने परिवार के सदस्यों की भी हिस्सेदारी बेचना चाहते हैं.

 यह सौदा किस तरह का हो, अभी इसके लिए बातचीत चल रही है और काफी कुछ भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) की मंजूरी पर निर्भर करेगा. असल में विजय शेखर शर्मा और वन97 के स्वामित्व में पहले से ही पेटीएम पेमेंट बैंक चल रहा है.

राणा कपूर और उनके परिवार की यस बैंक में 9.54 फीसदी हिस्सेदारी है. कपूर परिवार की बैंक में हिस्सेदारी यस कैपिटल और मॉर्गन क्रेडिट्स के द्वारा है.

खबर के अनुसार, Paytm के संस्थापक शर्मा अभी इस सौदे के नफा-नुकसान का मूल्यांकन कर रहे हैं. इसके अलावा उन्हें रिजर्व बैंक से मंजूरी जैसे दूसरे नियामक कारकों पर भी विचार करना है. असल में नियमों के मुताबिक अभी किसी बैंक में संस्थागत निवेशकों को सिर्फ 5 फीसदी हिस्सदारी ही खरीदने की इजाजत है. इससे ज्यादा हिस्सा लेने के लिए रिजर्व बैंक की अलग से मंजूरी लेनी होती है.

साल 2015 में राणा कपूर बैंक बोर्ड अप्वॉइंटमेंट के मामले में अपनी रिश्तेदार मधु कपूर से कानूनी लड़ाई हार चुके थे. इसके बाद उन्हें बैंक के सीईओ और एमडी पद से इस्तीफा देना पड़ा था. राणा कपूर और मधु कपूर के परिवार की यस बैंक में कुल हिस्सेदारी 17.97 फीसदी है. यह सौदा यदि होता है तो पहली बार कोई डिजिटल पेमेंट कंपनी देश के किसी कॉमर्शियल बैंक में बड़ा हिस्सा खरीदेगी.

सूत्रों के अनुसार, इस सौदे के तमाम पहलुओं पर विचार किया जा रहा है. यस बैंक की हालत बहुत अच्छी नहीं है और उस पर पूंजी जुटाने का दबाव है. बैंक को अपने बहीखाते में फंसे कर्जों के लिए प्रावधान बढ़ाना पड़ा है. पिछले महीने यस बैंक ने एक क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल प्लेसमेंट (QIP) के जरिए 1,930 करोड़ रुपये जुटाए हैं.