पति-पत्नी दोनों वर्किंग हैं तो वक्त का पता नहीं चलता कि दिन कब शुरू होता है और कब खत्म हो जाता है। पार्टनर्स को एक-दूसरे के लिए वक्त निकालने में दिक्कत होती है। लेकिन इस पर भी अगर एक पार्टनर ज्यादातर ट्रैवलिंग के कारण आउट ऑफ स्टेशन रहे तो दूसरे पार्टनर को अकेलापन महसूस होना सामान्य बात है। आप अपने रिश्ते में प्यार की गर्माहट बनाए रखने के लिए टेक्नॉलजी की मदद ले सकते हैं...

लाइफ में जरूरी है यह फैक्टर
खुशियों भरी जिंदगी के लिए जरूरी है कि आप अपनी पर्सनल और प्रफेशनल लाइफ को बैलंस करके चलें। यही की-फैक्टर है, जो रिश्तों में गर्माहट बनाए रखता है। लेकिन जरूरी नहीं कि हम हमेशा ही ऐसा कर पाएं। कई बार स्थितियां साथ नहीं देती और जीवन के किसी एक पक्ष पर अधिक ध्यान देना पड़ता है।

अनजाने में होने लगता है ऐसा
दोनों पार्टनर साथ में क्वालिटी टाइम बिताएं, यह जरूरी होता है। इससे एक-दूसरे की इमोशनल जरूरत पूरी होती है और रिश्ते में बॉन्ड अधिक मजबूत होता है। लेकिन काम के बढ़ते दबाव के कारण अनजाने में ही हम लोग इसे अनदेखा करने लगते हैं। यहीं से लोनलीनेस की फीलिंग हावी होती है।

मूडी हो जाते हैं ऐसे पार्टनर
जिन महिलाओं के पति अधिक समय तक घर से बाहर रहते हैं और दिन में बमुश्किल 10 से 15 मिनट अपनी पत्नी से बात कर पाते हैं, ऐसी महिलाएं अक्सर अकेलेपन की भावना से घिरने लगती हैं। इसका उनके मूड पर बुरा असर पड़ता है। स्थिति उलट हो तो ऐसा पुरुषों के साथ भी हो सकता है।

बढ़ जाती है पार्टनर की जिम्मेदारी
अगर आप अपने काम में बहुत अधिक व्यस्त रहते हैं और अपने पार्टनर को वक्त नहीं दे पाते हैं तो आपको समय-समय पर वकेशन प्लान करनी चाहिए। ताकि आपकी पर्सनल लाइफ भी बैलंस रहे।