पटना
एके-47 केस में हाल में ही आत्मसमर्ण करने वाले मोकामा (Mokama) के बाहुबली विधायक अनंत सिंह (MLA Anant Singh) फरारी के दौरान अपनी बेटी-दामाद के पास थे. इस बात का खुलासा खुद अनंत सिंह ने पुलिसिया पूछताछ (Police Remand) में किया है. दो दिनों की पुलिस रिमांड पर लिए गए अनंत सिंह से जब पटना के महिला थाने में पहले दिन पूछताछ की गई तो पुलिस का पहला सवाल यही था कि वो फरारी के दौरान कहां थे. इसके जवाब में बाहुबली अनंत सिंह (Bahbali Anant Singh) ने कहा कि मैं दिल्ली में अपनी बेटी-दामाद के पास था. इसके साथ ही अनंत सिंह ने कहा कि मैं फरारी के दौरान देहरादून (Dehradun) भी गया था.

शनिवार को पटना पुलिस के दो अधिकारियों ने अनंत सिंह से बारी-बारी से पूछताछ की. दिल्ली से पटना लाए गए अनंत सिंह को कोर्ट ने दो दिनों की रिमांड पर लेने की मंजूरी दी थी जिसके बाद उनसे पटना के महिला थाना में पूछताछ शुरू की गई. अनंत सिंह से पहले पटना के ग्रामीण एसपी कान्तेश मिश्रा ने पूछताछ की उसके बाद बाढ़ की एएसपी लिपि सिंह ने भी कई सवाल किए. लिपि सिंह ने अनंत से एक के बाद एक 40 सवाल किए जिसमें से अनंंत सिंह ने कुछ का जवाब दिया तो कईयो का जवाब देने से बचते रहे.

दो घन्टे तक चली ये पूछताछ सीसीटीवी की निगरानी में हुई. इस दौरान अधिकारियों औ अनन्त सिंह के बीच एक टेबल था. अनंत सिंह से जब हाल ही में वायरल हुए भोला सिंह की हत्या की कथित साजिश के ऑडियो के बारे में पूछा गया तो इसे अनंत सिंह ने फर्जी बताया. अनंत से जब एके-47 और समर्थको के साथ कुछ पुरानी तस्वीरों के बारे में पूछा गया तो इसे अनंत ने सही बताया लेकिन ज्यादा जानकारी देने से बचते रहे.

अनंत सिंह से शनिवार को काफी लंबी पूछताछ की गई. इस दौरान उनको थाने में ही खाना दिया गया. अनंत सिंह से स्वास्थ का ख्याल रखते हुए उनको खाने में रोटी, दाल, भुजिया और सेव दिया गया. विधायक से पूछताछ के दौरान वहां का माहौल काफी सामान्य था और उनको पूछताछ के दौरान किसी तरह से शारीरिक और मानसिक प्रताड़ना नहीं दी गई. अनन्त समर्थक लल्लू मुखिया से शनिवार को खास पूछताछ नहीं की गई.

रविवार को रिमांड अवधि का दूसरा दिन है और आज भी अनंत सिंह से पुलिस की टीम पूछताछ करेगी. पुलिस से जुड़े सूत्रों के मुताबिक दोनों से रविवार को इस मामले में क्रॉस इंट्रोगेशन होगा. मालूम हो कि दिल्ली के साकेत कोर्ट में सरेंडर करने वाले अनंत सिंह को पटना लाया गया था जिसके बाद उनको बेउर जेल भेजा गया है.