कसौटी जिंदगी में आपने देखा कि अनुराग लंदन से कोलकाता आने के बाद सीधे पुलिस स्टेशन वीणा से मिलने जाता है। अनुराग वीणा से वादा करता है कि वह उन्हें बाहर निकाल लेगा। उन्हें परेशान होने की जरूरत नहीं। अनुराग वीणा के लिए वकील भी करता है। लेकिन, प्रेरणा अनुराग से किसी भी तरह की मदद लेने से इनकार कर देती है। वह इस मामले में अनुराग को दूर रहने को कहती है।

कसौटी जिंदगी में आप देखेंगे कि अदालत में प्रेरणा को झटका लगता है। शारदा कहती है कि उसे लगता है कि वीणा मिस्टर बजाज को जान से मारने की कोशिश की है, क्योंकि वह उनसे नफरत करती है। वहीं प्रेरणा के पास जो वकील है वह शारदा द्वारा ही दिया गया है। अनुराग ने भी वकील कर रखा है। वह प्रेरणा से विचार करने को कहता है और वीणा को इस संकट से निकालने में मदद की पेशकश करता है।

लेकिन, प्रेरणा अनुराग की मदद लेने से इनकार कर देती है। वह सोचती है कि यह सिर्फ एक गलतफहमी का मामला है। शारदा की भावना बजाज की समालती के लिए है। वह सोचती है कि सब कुछ ठीक हो जाएगा। वहीं अदलात शारदा के पूछती कि क्या आपको अब भी लगता है कि वीणा ने जानबूझकर मिस्टर बजाज की हत्या की कोशिश की है। इस पर शारदा अदालत से कहती है कि हां।

अदालत में शारदा का यह जवाब सुनकर प्रेरणा हिल गई है। अब प्रेरणा क्या करेगी? आगे कसौटी जिंदगी में क्या होगा, जानने के लिए हमारे साथ बने रहें।