ग्वालियर
दिल्ली-भोपाल के बीच चलने वाली शताब्दी एक्सप्रेस ट्रेन में खराब खाने की शिकायत के बाद ग्वालियर स्थित बेस किचन में खाद्य विभाग (Food Department) ने छापा मारा है. इस दौरान टीम को किचन (Kitchen) में बड़ी मात्रा में सड़ा हुआ प्याज मिला. किचन से प्याज के अलावा कच्चे पदार्थ जैसे मसालों के भी सैंपल कलेक्ट किए गए हैं, जिसे परीक्षण के लिए लैब में भेज दिया गया है. इस किचन पर पहले भी रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा छापा मारा जा चुका है. बता दें कि छापेमारी के दौरान चावल के पैक पर न तो बैच नंबर मिला न ही  रेट. टीम ने मौके से करीब 25 किलो से ज्यादा सड़े हुए प्याज को नष्ट किया.

दरअसल, ग्वालियर के गांधीनगर स्थित वृंदावन फूड प्रोडक्ट (Vrindavan Food Products) के नाम से शताब्दी एक्सप्रेस (Shatabdi Express train) के लिए किचन बनी हुई है, जहां सुबह से शाम तक शताब्दी एक्सप्रेस ट्रेन के लिए खाना बनाया जाता है. लेकिन, खाद्य विभाग की टीम को लगातार शिकायतें मिल रही थीं कि शताब्दी एक्सप्रेस में खराब खाना परोसा जा रहा है. इसके बाद खाद्य विभाग की टीम ने बेस किचन पर छापेमारी की कार्रवाई की.

जानकारी के मुताबिक, दिल्ली-भोपाल के बीच शताब्दी एक्सप्रेस में ग्वालियर से सप्लाई होने वाले खाने की क्वालिटी घटिया होने की शिकायत कलेक्टर के पास पहुंची थी. इसके बाद खाद्य विभाग ने दोपहर दो बजे छापेमारी की. इस दौरान टीम ने देखा कि किचन में खाना बनाते समय कर्मचारी सिर पर कैप और हाथों में गलब्स के बिना ही खाना बना रहे थे. बता दें कि किचन का संचालन वृंदावन फूड प्रोडक्ट द्वारा किया जाता है.

इस दौरान टीम ने किचन से दाल, चावल, पनीर और मिर्च-मसाले के चार नमूने लिए. टीम के मुताबिक, किचन में काफी मात्रा में सड़ा बदबूदार प्याज भरा हुआ था, जिसके बाद टीम ने मौके से करीब 25 किलो से ज्यादा सड़े प्याज को नष्ट किया. फिलहाल खाद्य विभाग की टीम ने सभी खाद्य पदार्थों के सैंपल लेकर जांच के लिए प्रयोगशाला भेज दिए हैं.