ग्वालियर
कांग्रेस सरकार में शुरु हो गई आॅनलाइन सट्टा। सुबह नौ बजे से आॅनलाइन लगने वाले नंबर शाम सात बजे तक लगाए जा रहे है। ग्वालियर में 10 काउंटर खुलेआम चलाए जा रहे है। 0 से 9  नंबर पर दांव लगाकर ग्राहक को 1 रुपए के बदले नौ रुपए तत्काल दिए जाते है।

ग्वालियर शहर में बड़े ही चुपचाप से लॉटरी के 10 काउंटर शुरु हो गए है। कथित लॉटरी को सट्टे के अंदाज में चलाया जा रहा है। शहर में बकायदा नगर निगम का दुकान संस्थान का लाइसेंस लेकर इसे आॅपरेट करने वालों का दावा है कि यह सरकार से मान्यता प्राप्त है। जबकि सरकारी अफसरों को ही इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है। दरअसल ये आॅनलाइन सट्टा और कथित लॉटरी बुद्धि कौशल खेल के नाम से चलाई जा रही है।

आॅनलाइन सट्टा शुरु करने वाली कंपनी गेन इंडिया गेम ने बड़े ही शातिर दिमाग से पारंपरिक सट्टे को आॅनलाइन क्विज का नाम दिया है। इसकी बकायदा आॅनलाइन आईडी बनाकर काम शुरु किया है। प्रदेश भर में शुरु गेम में नंबर लगाने वाले लोगो को 6 अलग अलग कैटेगरी में 6 रुपए से 99 रुपए का एक टिकट बेचा जा रहा है। खरीदने वाला किसी भी नबंर पर किसी भी वर्ग में मनचाहा पैसा लगा सकता है। एक घंटे में नंबर खुलते ही तत्काल काउंटर से हिसाब किया जा रहा है। गेम खिलाने वाले को पांच परेंसट का कमीशन दिया जा रहा है। यदि आॅनलाइन इसे चेक करें तो इसमें सवाल-जवाब के आॅब्जेक्टिव टाइप दिए है।

सही जवाब पर नंबर खोलने की प्रक्रिया है। कंपनी ने वेबसाइट में खुद के बारे में बताया है कि वह जनरल नॉलेज की जानकारी देती है जिससे बच्चों व बड़ों का बोद्धिक विकास हो सके। जबकि ग्राउंड लेवल पर इसका रुप पारंपरिक सट्टे जैसा ही है। यहां कोई सवाल-जवाब के आॅप्शन नहीं हैं। सीधे नंबर लेकर कंप्यूटर के जरिए रसीद निकालकर ग्राहक को थमाई जा रही है। जिसका एक घंटे में निकाल आता है। शहर में एमएच चौराहा, ठाटीपुर, पिंटो पार्क, ट्रांसपोर्ट नगर, कंपू, ढोलीबुआ का पुल जैसे इलाकों में 10 काउंटर शुरु किए गए हैं।

शातिर दिमाग कंपनी हर घंटे में हर कैटेगरी का रिजल्ट खोलती है। खास बात यह है कि 9 बजे शुरु हुआ गेम का नंबर 9.57 तक ही लिया जाता है। आखिरी के तीन मिनट में आॅनलाइन बेवसाइट का सॉफ्टवेयर पूरे गेम में लगे टोटल रकम का एनालाइसेस करता है। जिस नंबर पर कम दांव लगते हैं। उसे खोलकर मोटा मुनाफा बेवसाइट चलाने वाले को होता है।

ये आॅनलाइन लॉटरी की कोई अधिकृत सूचना हमारे पास नहीं है। इसकी तत्काल पड़ताल कर हम आवश्यक कार्रवाई करेंगे।
नवनीत भसीन, एसपी ग्वालियर