पटना
 बिहार पुलिस अवर सेवा आयोग (बीपीएसएससी) की ओर से हाल ही में निकाली गई दारोगा, सार्जेंट, सहायक जेल अधीक्षक की 2446 भर्तियों की शर्तों में बदलाव किया है। बीपीएसएससी ने शैक्षणिक योग्यता ग्रेजुएशन की कटऑफ डेट बदल दी है। इससे उन लाखों उम्मीदवारों को फायदा हुआ है। अब ये उम्मीदवार इन भर्तियों के लिए आवेदन कर सकेंगे। दरअसल पहले जारी नोटिफिकेशन के मुताबिक वही उम्मीदवार आवेदन कर सकते थे जिन्होंने 1 जनवरी, 2019 अथवा इसके पहले ग्रेजुएशन की हो। जबकि लाखों छात्र ऐसे हैं जिनकी ग्रेजुएशन देरी से रिजल्ट आने के चलते 1 जनवरी, 2019 के बाद पूरी हुई। ऐसे छात्र इन भर्तियों के लिए आवेदन करने से वंचित हो रहे थे। लेकिन अब ग्रेजुएशन तिथि कट ऑफ संबंधी शर्त में ढील देने से ऐसे उम्मीदवार आवेदन कर सकेंगे।

आपके अपने अखबार हिन्दुस्तान की खबर का असर
आपके अपने अखबार हिंदुस्तान ने भी आवेदन से वंचित रहने वाले छात्रों की खबर को प्रमुखता से छापा था। मगध विवि ने स्नातक के छात्रों को  समय पर डिग्री नहीं दी और छात्र योग्यता रहते बहाली की प्रक्रिया से दूर हो गए थे। अब आवेदन से वंचित 3 लाख छात्र भी प्रक्रिया में भाग ले सकेंगे।
 
छात्रों ने लगाई थी आयोग से गुहार
बीपीएसएससी की शर्त से मगध विवि के स्नातक सत्र 2015 -18 के छात्र प्रभावित हो रहे थे। मगध विवि का रिजल्ट वर्ष 2019 के फरवरी महीने में प्रकाशित हुआ था। इस वजह से अब छात्र बिना गलती के बहाली से ही वंचित हो रहे थे। छात्रों का कहना था कि विवि ने सत्र को पूरा करने में लेटलतीफी की, इसमें उनकी क्या गलती है। छात्रों ने आयोग से भी गुहार लगाई थी कि शैक्षणिक योग्यता के लिए तय समय सीमा में बदलाव कर उसे ऐसा रखा जाए, जिससे मगध विवि के उस सत्र के छात्र भी बहाली में भाग ले सकें। 

कुल 2446 पदों पर भर्तियां 
बिहार पुलिस में दारोगा के 2064 और सार्जेंट (प्रारक्ष अवर निरीक्षक, परिचारी) के 215 पदों पर बहाली होगी। वहीं कारा विभाग के अधीन सहायक जेल अधीक्षक के 167 पदों पर नियुक्ति की जाएगी। इनमें सहायक जेल अधीक्षक के 42 पद भूतपूर्व सैनिकों के लिए आरक्षित होंगे। आवेदन भेजने की आखिरी तारीख 25 सितम्बर रखी गई है। तीनों पदों पर नियुक्ति के लिए संयुक्त परीक्षा के माध्यम से नियुक्ति की जाएगी। 
 
शैक्षणिक योग्यता 
अभ्यर्थियां का दिनांक 01.08.2019 अथवा इसके पूर्व (पहले ये कटऑफ डेट 1.1.2019 थी) किसी मान्यता प्राप्त विष्वविद्यालय से स्नातक परीक्षा या राज्य सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त उसके समकक्ष परीक्षा उत्तीर्ण होना अनिवार्य है ।