मुंबई
बीते सप्ताह शीर्ष 10 घरेलू कंपनियों में से सात को बाजार पूंजीकरण में सम्मिलित तौर पर 86,879.7 करोड़ रुपये का नुकसान उठाना पड़ा। एफएमसीजी कंपनी आईटीसी का बाजार पूंजीकरण इस दौरान सर्वाधिक कम हुआ।

इन कंपनियों का कम हुआ बाजार पूंजीकरण

  •     इस दौरान आईटीसी का बाजार पूंजीकरण 20,748.4 करोड़ रुपये कम होकर 2,89,740.59 करोड़ रुपये हो गया।
  •     भारतीय स्टेट बैंक का 17,715.4 करोड़ रुपये गिरकर 2,41,946.22 करोड़ रुपये हुआ।
  •     एचडीएफसी बैंक का 17,335.3 करोड़ रुपये टूटकर 5,91,490.98 करोड़ रुपये हो गया।
  •     आईसीआईसीआई बैंक का बाजार पूंजीकरण 15,084.5 करोड़ रुपये लुढ़ककर 2,55,484.91 करोड़ रुपये पर आ गया। इसी तरह एचडीएफसी का बाजार पूंजीकरण 9,921.2 करोड़ रुपये गिरकर 3,52,202.72 करोड़ रुपये पर आ गया।
  •     कोटक महिंद्रा बैंक का एमकैप 5,155.85 करोड़ रुपये कम होकर 2,81,185.14 करोड़ रुपये हुआ।
  •     रिलायंस इंडस्ट्रीज का बाजार पूंजीकरण 919.16 करोड़ रुपये लुढ़ककर 8,08,836 करोड़ रुपये पर आ गया।

इन कंपनियों का बढ़ा बाजार पूंजीकरण

  •     वहीं टीसीएस का बाजार पूंजीकरण 31,538.79 करोड़ रुपये मजबूत होकर 8,43,367.22 करोड़ रुपये हो गया।
  •     इंफोसिस का बाजार पूंजीकरण 11,746.94 करोड़ रुपये की बढ़त के साथ 3,44,419.45 करोड़ रुपये हुआ।
  •     हिंदुस्तान यूनिलीवर का बाजार पूंजीकरण 7,176.31 करोड़ रुपये बढ़कर 4,02,512.28 करोड़ रुपये पर पहुंच गया।

बाजार पूंजीकरण के हिसाब से टीसीएस शीर्ष पर बनी रही। इसके बाद रिलायंस इंडस्ट्रीज, एचडीएफसी बैंक, हिंदुस्तान यूनिलीवर, एचडीएफसी, इंफोसिस, आईटीसी, कोटक महिंद्रा बैंक, आईसीआईसीआई बैंक और एसबीआई का स्थान रहा।