मिर्जापुर 

उत्‍तर प्रदेश में मिर्जापुर के राजकीय प्राथमिक विद्यालय में मिड-डे मील के नाम पर बच्चों को नमक-रोटी खाने को देने का विडियो वायरल होने के बाद डीएम अनुराग पटेल ने शनिवार को एबीएसए बृजेश सिंह को निलंबित कर दिया है। इसके साथ ही बीएसए को ट्रांसफर करने की शासन से सिफारिश करने के साथ कार्यमुक्त भी कर दिया है। नए बीएसए के आने तक इनका कार्यभार मुख्य विकास अधिकारी को दे दिया है। 

प्रदेश में मंत्रिमंडल विस्तार के साथ नए बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) सतीश द्विवेदी ने जमालपुर ब्लॉक सीऊर स्थित प्राथमिक विद्यालय में बच्चों को मिड-डे मील में रोटी-नमक देने के मामले में डीएम से रिपोर्ट तलब की। इस मामले की शासन को रिपोर्ट भेजने के साथ शनिवार को डीएम ने यह कार्रवाई की है। प्राइमरी स्कूल के बच्चों को मिड-डे मील के नाम पर नमक-रोटी देने के मामले में प्रथमदृष्टया दोषी पाए जाने पर रसोइया, शिक्षक, प्रधानाध्यापक को पहले ही निलंबित कर दिया गया है।
 
इस मामले में डीएम अनुराग पटेल ने डीपीआरओ अरविंद कुमार को ग्राम प्रधान की भूमिका की जांच का भी निर्देश दिया था। उधर इस मामले में अपना दल (एस) के कार्यवाहक राष्ट्रीय अध्यक्ष और एमएलसी आशीष पटेल ने भी सीएम योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर बीएसए के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी। 

प्रियंका गांधी ने कसा था तंज 
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भी शुक्रवार को मिड-डे मील के नाम पर बच्चों को नमक-रोटी देने के मामले का विडियो ट्वीट करते हुए कहा था कि यह उत्तर प्रदेश की बीजेपी सरकार की व्यवस्था का असल हाल है। जहां सरकारी सुविधाओं की दिन-ब-दिन दुर्गति की जा रही है। बच्चों के साथ हुआ यह व्यवहार बेहद निंदनीय है।