अगर आप हेल्थ कॉन्शस हैं तो कई बार खाने के बजाय सलाद ऑर्डर कर देते हैं। लेकिन क्या ऐसा करना वाकई हेल्दी है? जवाब शाद न है। ऐसा इसलिए क्योंकि बाहर मिलने वाले सलाद में कुछ चीजें एक साथ मिलाकर बस इन्हें सलाद का नाम दे दिया जाता है लेकिन ये उतने हेल्दी नहीं होते। लोगों को लगता है कि वे तो हेल्दी सलाद खा रहे हैं लेकिन यह उनकी गलतफहमी है।

उतनी हेल्दी भी नहीं होती सलाद
न्यूट्रिशन कंसल्टेंट स्वाति कहती हैं कि सलाद उतनी हेल्दी भी नहीं होती जितना लोग समझ लेते हैं। इसमें प्रिजर्व्ड फ्रूट्स, क्रीमी ड्रेसिंग इसको उतना हेल्दी नहीं रहने देते जितना लोग समझते हैं।

सलाद खाना है अच्छा मगर...
लोग सलाद को तवज्जो दे रहे हैं यह अच्छी बात है। हल्की पकी या कच्ची सब्जियां खाकर हम अच्छी तरह समझ सकते हैं कि हम क्या खा रहे हैं और यह हमारी सेहत पर कैसे असर डालेगा। लेकिन इसके असली स्वरूप को छेड़ना ठीक नहीं।

खाने से रिप्लेस न करें सलाद
बता दें कि हेल्थ एक्सपर्ट्स सलाद खाने पर जोर इसलिए देते हैं क्योंकि इनसे हमें माइक्रोन्यूट्रिएंट्स औऱ फाइबर मिलते हैं। हालांकि सिर्फ सब्जी वाली सैलड को खाने से रिप्लेस नहीं करना चाहिए क्योंकि इसमें प्रोटीन नहीं होता है। कई लोग अपने कंप्लीट फूड को सिर्फ वेजिटेबल सैलड से रिप्लेस कर देते हैं जो कि गलत है। लंबे वक्त तक अगर आप प्रोटीन न खाएं तो शरीर में प्रोटीन की कमी हो जाएगी जो कि काफी खतरनाक है। इसलिए सलाद खाने का हिस्सा हो सकती है लेकिन रोजाना इसे खाने से रिप्लेस करना ठीक नहीं।

कैसा हो आपका सलाद
बेस्ट सलाद वही होता है जिसमें हरी सब्जियां, टमाटर, पेपर्स, खीरा, गाजर वगैरह हो। लेकिन प्लेन सलाद कोई पसंद नहीं करता इसलिए इसमें कैन्ड फ्रूट्स, क्रीमी ड्रेसिंग, फ्राई नूडल्स या चीज वगैरह होता है जो कि बिल्कुल अनहेल्दी है। इनमें काफी मात्रा में ऑइल, सॉल्ट, सोडियम, और प्रिजर्वेटिव्स होते हैं। फ्राई चिकन और मेयनेज वाली सलाद की जगह एक बोल कलरफुल सब्जियों वाला सलाद बेहतर होगा।