Google, Amazon और Apple के वर्चुअल असिस्टेंट्स को लेकर पिछले दिनों कई खबरें आई थीं। इनमें कहा जा रहा था कि इन कंपनियों के थर्ड पार्टी वर्कर (कॉन्ट्रैक्टर्स) यूजर्स की ऑडियो क्लिप को सुन रहे थे। कॉन्टैक्टर्स द्वारा सुनी जा रही इन ऑडियो क्लिप्स से यूजर्स की प्रिवेसी पर लगातार खतरा बना हुआ था। कंपनियां इन कॉन्ट्रैक्टर्स को ऑडियो क्लिप्स को रिव्यू करने के लिए हायर करती हैं ताकि वर्चुअल असिस्टेंट की ट्रांसक्रिप्शन (समझ और रिस्पॉन्स) को बेहतर किया जा सके।

300 कॉन्ट्रैक्टर्स को निकाला
इसी बीच ऐपन ने ऑडियो क्लिप सुनने वाले अपने 300 कॉन्ट्रैक्टर्स को हटा दिया है। ऐपल ने अपने सीरी वर्चुअल असिस्टेंट यूजर्स की प्रिवेसी को मेनटेन रखने के लिए यह कदम उठाया है। ऐपल ने जिन 300 कॉन्ट्रैक्टर्स को हटाया है वे एक शिफ्ट में एक हजार ऑडियो क्लिप्स को सुनते थे ताकि सीरी के रिस्पॉन्स और समझ को बेहतर बनाया जा सके। प्रिवेसी और डेटा लीक के बढ़ते मामले को देखते हुए ऐपल को मजबूरन सीरी को इंप्रूव करने वाले इस प्रोग्राम को रोकना पड़ा है। The Examiner की एक रिपोर्ट के मुताबिक ये थर्ड पार्टी वर्कर ज्यादातर कैनेडियन, ऑस्ट्रेलियन और यूके इंग्लिश ऐक्सेंट को सुना करते थे।

कंपनी ने टाला सीरी को बेहतर करने का प्लान
इस बारे में ऐपल के एक प्रवक्ता ने कहा, 'हमारा मानना है कि सभी के साथ हमें अच्छा व्यवहार करने चाहिए और सभी को वह सम्मान मिलना चाहिए जिसके वे हकदार हैं। इसमें हमारे एप्लॉयीज के साथ वे सभी सप्लायर्स शामिल हैं जिनके साथ हम काम करते हैं। ऐपल कस्टमर्स की प्रिवेसी के लिए प्रतिबद्ध है इसीलिए सीरी को बेहतर करने के फैसले को अभी टाला जा रहा है। हम इसके लिए अपनी पॉलिसी पर फिर से विचार करेंगे।'


ऐपल को पहले भी बंद करना पड़ा है प्रोग्राम
इससे पहले भी ऐपल को दुनियाभर में प्रिवेसी इशू के चलते अपने क्वॉलिटी कंट्रोल प्रोग्राम को बंद करना पड़ा था क्योंकि Guardian में छपी एक रिपोर्ट में कहा गया था कि कंपनी के थर्ड पार्टी कॉन्ट्रैक्टर सीरी यूजर्स की बातों को लगातार सुन रहे थे। रिपोर्ट में यह भी कहा गया था कि ये कॉन्ट्रैक्टर्स यूजर्स के निजी पलों में की जाने वाली बातचीत को भी सुना करते थे।


गूगल असिस्टेंट और ऐमजॉन एलेक्सा भी सुनते हैं बातें
ऐपल सीरी के अलावा गूगल असिस्टेंट और ऐमजॉन एलेक्सा भी यूजर्स की बातों को सुनते हैं। पिछले दिनों इनसे जुड़ी भी कई रिपोर्ट्स आ चुकी हैं। यूजर्स की प्रिवेसी के खतरे को लेकर इन दोनों कंपनियों की तरफ से भी अब तक कोई ऑफिशल बयान नहीं दिया गया है। हालांकि, ऐमजॉन ने यह जरूर माना है कि एलेक्सा को बेहतर बनाने के लिए कुछ रिकॉर्डिंग्स को कंपनी सुनती है।