पटना                              
सरेंडर करने जाते वक्त विधायक अनंत सिंह ने तीन गाड़ियां बदली थीं। सबसे पहले वे बीएमडब्ल्यू पर सवार हुए, लेकिन विधायक को डर था कि उनका पीछा कर रही पटना पुलिस की एसआईटी दिल्ली तक न पहुंच जाए। लिहाजा उन्होंने गाड़ी बदल ली। 

कोर्ट के पास पहुंचने के बाद विधायक ने तीसरी गाड़ी बदली। वहां पहले से अनंत सिंह के वकील मौजूद थे। कोर्ट के भीतर पहुंचते ही विधायक ने चैन की सांस ली और वकीलों को देखने लगे। जब उन्हें दूसरे कोर्ट में भेजा गया तो वकीलों ने उन्हें पूरा माजरा बताया। विधायक को वकीलों ने जानकारी दी कि उनके सरेंडर करने की प्रार्थना कोर्ट ने स्वीकार कर ली है। इसके बाद विधायक ने वकीलों से पूछा ‘आगे क्या होगा’? इस पर उन्हें जवाब मिला कि अब उन्हें दिल्ली पुलिस की कस्टडी में जाना होगा। इसके बाद पटना पुलिस उन्हें ट्रांजिट रिमांड पर लेकर वापस चली जायेगी। आखिरकार कोर्ट की प्रकिया पूरी होने के बाद विधायक को दिल्ली पुलिस ले गयी। 

सफेद शर्ट-पैंट और चश्मे में विधायक पहुंचे कोर्ट
विधायक सफेद शर्ट-पैंट और चश्मे में कोर्ट पहुंचे थे। कानून की चौखट पर पहुंचने के बाद उनके चेहरे का रंग उड़ा हुआ था।

रात 9.30 बजे पटना एसआईटी पहुंची दिल्ली
विधायक अनंत सिंह के सरेंडर करने के बाद शुक्रवार की रात 9.30 बजे एसआईटी में शामिल पुलिस वाले दिल्ली पहुंच गये, जबकि विधायक को दिल्ली पुलिस ने तिहाड़ जेल भेज दिया है। पटना पुलिस के आने और विधायक की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए उन्हें दिल्ली के तिहाड़ जेल में रखा गया है। अब दिल्ली पुलिस अपने साथ उन्हें कोर्ट लेकर पहुंचेगी, जहां से ट्रांजिट रिमांड के बाद विधायक को पटना लाया जायेगा। एसी और लग्जरी कमरों के शौकीन विधायक अनंत सिंह को शुक्रवार रात तिहाड़ जेल में बितानी पड़ी। अनंत सिंह विधायक हैं, लिहाजा उन्हें वहां भी सुविधा दी गयी।

- 14 जुलाई: देर रात हत्या की वारदात को अंजाम देने पंडारक पहुंचे तीन अपराधी गिरफ्तार हुए
- 15 जुलाई:  विधायक अनंत सिंह, लल्लू मुखिया, रणवीर समेत नौ पर हत्या की सुपारी देने का केस पंडारक थाने में दर्ज
- 24 जुलाई: विधायक और एक अन्य अपराधी की बातचीत का ऑडियो हुआ वायरल, कथित ऑडियो में हत्या की सुपारी दे रहे थे अनंत सिंह 
- 01 अगस्त: विधायक का पुलिस ने कराया वॉयस टेस्ट 
- 16 अगस्त: विधायक के बाढ़ स्थित घर से एके 47 और दो ग्रेनेड मिले, यूएपीए एक्ट में केस 
- 17 अगस्त: विधायक के सरकारी आवास पर छापा, विधायक घर पर नहीं मिले
- 20 अगस्त: विधायक पर गिरफ्तारी वारंट जारी