भोपाल
सत्ता में आने से पहले प्रदेश की कमलनाथ सरकार ने जनता से कई वादे किए थे, जिनमें से कुछ पूरे हुए  और कुछ अब भी अधूरे है। उनमें से एक वादा मुख्यमंत्री कन्या विवाह व निकाह योजना के तहत बेटियों को 28  हजार की जगह 51  हजार दिए जाने का था, लेकिन आज सरकार बने आठ महिने से ज्यादा हो चुके है और अबतक किसी के खाते में पैसे नही पहुंचे है। हैरानी की बात तो ये है कि इन बीते महिनों में करीब 22500 शादियां हो चुकी है।

          दरअसल,  वित्तिय संकट से जूझ रही सरकार का खजाना खाली है, जिसके चलते अबतक मुख्यमंत्री कन्या विवाह व निकाह योजना के अंतर्गत नए जोड़ो को राशि नही पहुंचाई गई है। हालत यह है कि एक अप्रैल से अब तक मुख्यमंत्री कन्या विवाह व निकाह योजना में 22 हजार 500 शादियां हो चुकी हैं, लेकिन किसी के भी खाते में 51 हजार रुपए नहीं पहुंचे, क्याेंकि इस साल स्कीम में जितना भी पैसा था, वह 31 मार्च 2019 से पहले हुई 18 हजार शादियों पर खर्च कर दिया गया। इन हालातों के मद्देनजर सामाजिक न्याय विभाग ने वित्त विभाग से कहा है कि वह इमरजेंसी फंड से राशि जारी करे, ताकि कन्या के खाते में 51 हजार रुपए दिए जा सकें। विभाग ने आकस्मिक निधि से 100 करोड़ रुपए मांगे।

यहां बता दें कि कांग्रेस ने मप्र में सत्ता वापसी करने के बाद कन्या विवाह व निकाह की राशि 28 हजार (3 हजार रुपए स्मार्ट फोन के मिलाकर) से बढ़ाकर 51 हजार रुपए की है। सामूहिक विवाह सम्मेलन में शादी करने पर तीन हजार रुपए आयोजकों को दिए जाते हैं, जबकि 48 हजार रुपए कन्या के खाते में जाते हैं। इससे पहले भाजपा सरकार ने इस योजना के तहत कन्या विवाह राशि 28 हजार रुपए रखी थी। कांग्रेस ने अपने वचन पत्र में इस राशि को बढ़ाने का वादा प्रदेश की जनता से किया था, लेकिन अबतक पूरा नही हो पाया है।

बीजेपी ने बोला हमला

इसको लेकर पूर्व मंत्री विश्वास सारंग ने कमलनाथ सरकार पर हमला बोला है और कहा कि मध्यप्रदेश की सरकार झूठे वादों और झूठी नीतियों के सहारे चल रही है। अपनी नाकामी छुपाने के लिए विज्ञापनों के माध्यम से अपने कर्तव्य की इतिश्री कर रहे है। वादा था कि आर्थिक रूप से  हुए जोड़ो को मुख्यमंत्री विवाह योजना के माध्यम से 51 हजार रुपये देंगे ।साढ़े 22 हजार विवाह हुए पर किसी को भी राशि नही दी। ये सरकार की वादा खिलाफी का जीता जागता उदाहरण है। हम उन शादीशुदा बच्चियों से  मुलाकात करेंगे, उन बच्चियों की आवाज को उठाएंगे

"To get the latest ne