गूगल ने ऑफिशली अपने अगले ऑपरेटिंग सिस्टम का नाम अनाउंस कर दिया है। जिस ओएस का नाम अब तक ऐंड्रॉयड Q माना जा रहा है, पुरानी स्कीम से अलग हटते हुए इस बार नए ओएस का नाम Andorid 10 रखा गया है। अब तक ऐंड्रॉयड अंग्रेजी के अल्फाबेट्स के हिसाब से चलते आ रहे थे। नया ऐंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम टेस्टिंग के लिए कुछ डिवेलपर्स को दिया गया है और इसके पब्लिक बीटा वर्जन भी रिलीज किए गए हैं। बीटा वर्जन में कई बेहतरीन फीचर्स देखने को मिले हैं, जो यूजर्स का एक्सपीरियंस पूरी तरह बदल देंगे। ये फीचर्स नए ओएस में ऐड किए गए हैं,

डार्क मोड
सिस्टम वाइड डार्क मोड फीचर का यूजर्स को लंबे वक्त से इंतजार था और आखिरकार IO डिवेलपर्स कॉन्फ्रेंस में इसे कन्फर्म कर दिया गया है। डार्क थीम को सेटिंग्स में जाकर बैटरी टैब से ऑन किया जा सकता है। गूगल पहले भी अपने कई ऐप्स में डार्क मोड ला चुका है।

लोकेशन ऐक्सेस परमिशन
ऐंड्रॉयड 10 में गूगल ने यूजर्स की प्रिवेसी को बेहतर किया है और इसके लिए यूजर्स के लोकेशन डेटा से जुड़े ऑप्शन और पूरा कंट्रोल यूजर्स को मिलेगा। अब कौन से ऐप कब आपका लोकेशन डेटा ऐक्सेस कर सकेंगे इसके लिए अलग से परमिशन ली जाएगी। यूजर्स को परमिशन Allow करने या Deny करने के अलावा तीसरा विकल्प 'Allow only when in use' भी मिलेगा।

फास्ट शेयर ऑप्शन
गूगल इसमें फाइल्स और डेटा शेयर करने का नया फीचर भी दे सकता है और कंपनी इसे 'फास्ट शेयर' नाम दे सकती है। गूगल के पास पहले ही ऐसा फीचर था, जिसे ऐंड्रॉयड बीम कहा गया था लेकिन बाद में रिलीज हुए ओएस वर्जन में इसे हटा दिया गया था।

नया बैटरी इंडिकेटर
बैटरी परसेंटेज बताने वाला इंडिकेट ऐंड्रॉयड 10 में नया देखने को मिल सकता है। नए ओएस में परसेंटेज की जगह दिखेगा कि डिवाइस बची हुई बैटरी पावर पर कब तक चल सकता है। उदाहरण के लिए परसेंटेज की जगह 'Until 11PM' दिखेगा। कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक, बैटरी के एक परसेंटेज से कम होने के बाद ये टेक्स्ट दिखेगा।

कलर थीम्स
ऐंड्रॉयड 10 में न सिर्फ यूआई में नए बदलाव देखने को मिलेंगे बल्कि यूजर्स को कई कलर थीम्स भी दी जाएंगी। फाइनल वर्जन में ये थीम्स लिमिटेड कलर्स के साथ ही देखने को मिलेंगी। इसे बीटा वर्जन के डिवेलपर ऑप्शंस में स्पॉट किया गया है।

क्यूआर कोड फॉर वाई-फाई
नए ऐंड्रॉयड ओएस में वाई-फाई से कनेक्ट होना आसान हो जाएगा। यूजर्स को बार-बार पासवर्ड नहीं डालना पड़ेगा और क्यूआर कोड की मदद से वाई-फाई कनेक्टिविटी मिल सकेगी। ऐसे में वाई-फाई ओनर को हर यूजर को पासवर्ड भी नहीं बताना होगा।

थर्ड पार्टी कैमरा ऐप्स
थर्ड पार्टी ऐप्स की मदद से नए ओएस में बेहतर फोटोज क्लिक की जा सकेंगी। ऐप डिवेलपर्स नए ओएस में इमेजेस से जुड़ी डेफ्थ इनफॉर्मेशन ऐक्सेस कर सकेंगे, जिससे कैमरा को ट्वीक कर बेस्ट क्वॉलिटी फोटो क्लिक हो सकेगी।

नए ऑडियो-विडियो फॉरमेट
ऐंड्रॉयड 10 में यूजर्स ढेरों नए ऑडियो और विडियो फॉरमेट्स भी प्ले कर सकेंगे, जो मौजूदा वर्जन में प्ले नहीं होते। फिलहाल इन्हें कन्वर्ट करना पड़ता है या फिर किसी थर्ड-पार्टी ऐप की मदद लेनी पड़ती है।


नए ऐप अलर्ट ऑप्शन
ऐंड्रॉयड 10 में ऐप नोटिफिकेशन पर लॉन्ग प्रेस करने यूजर्स को उन्हें ब्लॉक करने जैसे कई जरूरी ऑप्शन दिखेंगे। ऐसे में यूजर्स किसी नोटिफिकेशन को साइलेंट या ब्लॉक तुरंत कर पाएंगे।


बेहतर डेस्कटॉप इंटीग्रेशन
ऐंड्रॉयड 10 में यूजर्स को डेस्कटॉप मोड भी मिल सकता है, जिसकी मदद से स्मार्टफोन को डेस्कटॉप्स के साथ बेहतर कनेक्टिविटी मिलेगी। इससे डिवाइस की प्रोडक्टिविटी बढ़ाई जा सकेगी।


फोल्डेबल यूआई
ऐंड्रॉयड 10 में फोल्डेबल स्मार्टफोन्स को एक डेडिकेटेड यूआई मिलेगा। इसकी मदद से यूआई को ड्यूल डिस्प्ले हार्डवेयर के लिए तैयार करते हुए यूजर फ्रेंडली बनाया जाएगा।