नई दिल्ली
रोजाना रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक युवतियों से न्यूड विडियो कॉल कराए जा रहे थे। दिल्ली महिला आयोग की टीम ने पुलिस के साथ छापा मारा तो पति-पत्नी और उनके एक दोस्त को गिरफ्तार किया गया। इनकी पहचान नजमा (27), असगर (30) और कमर राजा (30) को पकड़ लिया गया। तीनों नंद नगरी ए-3 के रहने वाले हैं।
डीसीपी अतुल कुमार ठाकुर ने बताया कि नंद नगरी ए-1 ब्लॉक में महिलाओं से जबरन अनैतिक काम कराने की कॉल मिली थी। दिल्ली महिला आयोग की टीम के साथ पुलिस ने मकान की जांच की। मकान में रहने वाली नंद नगरी की नजमा और मंडावली फाजलपुर की अस्मिता से पूछताछ की गई। पूछताछ में आरोपी नजमा ने बताया वह शादीशुदा है और उसके दो बच्चे हैं। वह इस धंधे में पांच-छह महीने से जुड़ी है। एक ऐप के जरिए इसे अंजाम देती है।

पूछताछ में उसने खुलासा किया कि उसने ऐप से अपने मोबाइल नंबर को रजिस्टर्ड करा रखा है। इसके जरिए उसे कई लोगों के न्यूड विडियो के लिए मेसेज या कॉल आते थे। पुलिस ने मोबाइल फोन और सिम कार्ड सीज कर लिए। इस मामले में अभी जांच जारी है और धंधे में शामिल अन्य लोगों के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है। पुलिस ने आईपीसी की धारा 328, आईटी और पॉक्सो ऐक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया।

आयोग की हेल्पलाइन पर 14 अगस्त को एक महिला ने फोन कर बताया कि उसकी 20 साल की बेटी कृष्णा नगर से लापता है। टीम ने रिपोर्ट थाने में दर्ज कराने में मदद की और जब उनकी टीम लड़की के घर गई, तो बहन ने बताया कि लड़की की एक दोस्त कुछ बता सकती है, जो उन्हें कुछ भी बताने से इनकार कर रही है। टीम लड़की से मिली। बहुत समझाने के बाद उसने बताया कि नंद नगरी में एक ऑनलाइन सेक्स रैकेट चल रहा है, जहां 15 से 20 लड़कियों को वेश्यावृत्ति करवाई जा रही है।

उसने बताया कि वह 15-20 दिनों के लिए वहां थी और उससे सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म पर रात 10 से सुबह 6 बजे के बीच विडियो कॉल करवाई जाती थी। आयोग की चीफ स्वाति मालिवाल कहती हैं, मुझे हैरानी है कि कैसे इस तरह के हाईप्रोफाइल इंटरनैशनल सेक्स रैकेट पुलिस की नाक के नीचे चलते हैं? 20 साल की लड़की अभी भी कई लड़कियों के साथ गायब है। दिल्ली पुलिस को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि उन्हें जल्द से जल्द सुरक्षित वापस लाया जाए।