महात्मा गांधी को राष्ट्रपिता कहा जाता है। सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि दुनियाभर में उनके चाहने वाले हैं और उनकी याद में कुछ ना कुछ खास करते हैं। कुछ ऐसा ही खास है कर्नाटक के मंगलुरु में। यहां गांधी जी का एक खास मंदिर है, जिसमें हर रोज उनकी तीन बार पूजा होती है और आरती उतारी जाती है।  

यह मंदिर मंगलुरु मे श्री ब्रह्म बैदरकला क्षेत्र गरोडी में बना हुआ है। महात्मा गांधी के अनुयायी इस मंदिर में आते हैं और उनके द्वारा बताए रास्ते (सत्य और अहिंसा) पर चलने का प्रण लेते हैं।

साल 1948 में यहां गांधी जी की एक मिट्टी की मूर्ति स्थापित की गई थी। बाद में साल 2006 में यहां लोगों की मांग पर मंदिर का निर्माण किया गया और साथ ही गांधी जी की संगमरमर की प्रतिमा लगाई गई।

जैसे किसी भगवान की पूजा की जाती है, ठीक वैसे ही इस मंदिर में गांधी जी की पूजा होती है। यहां दिन में तीन बार सुबह छह बजे, दोपहर 12 बजे और शाम के 7:30 बजे उनकी पूजा होती है। इसके अलावा गांधी जी की प्रतिमा के पास प्रतिदिन एक दीपक जलाया जाता है।

गांधी जयंती के दिन इस मंदिर में एक विशेष पूजा का आयोजन किया जाता है। फल और मिठाइयों के साथ गांधी जी की प्रतिमा पर ब्लैक कॉफी चढ़ाई जाती है। बाद में, उसी कॉफी को भक्तों में 'प्रसाद' के रूप में बांट दिया जाता है।