Sunday, September 23rd, 2018

बीसीसीआई के अवॉर्ड शो में कोहली रहे आकर्षण का केंद्र

 

बेंगलुरु
अफगानिस्तान के खिलाफ ऐतिहासिक टेस्ट मैच में भले ही वह नहीं खेल रहे हैं लेकिन भारतीय कप्तान विराट कोहली बीसीसीआई के सालाना पुरस्कार समारोह में आकर्षण का केंद्र रहे जिन्हें लगातार दो सत्र के लिए पॉली उमरीगर ट्रोफी (वर्ष के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटर) प्रदान की गई। शानदार फॉर्म में चल रहे भारतीय कप्तान ने 2016-17 और 2017-18 में जबर्दस्त प्रदर्शन किया। वह फिलहाल आईपीएल के दौरान गर्दन में लगी चोट का उपचार करा रहे हैं जिसकी वजह से वह सर्रे के लिये काउंटी क्रिकेट भी नहीं खेल सके। विराट के साथ इस अवॉर्ड शो में अनुष्का भी मौजूद थीं।


कोहली 15 जून को एनसीए में फिटनेस टेस्ट देंगे। पुरस्कार समारोह में अफगानिस्तान की राष्ट्रीय टीम भी मौजूद थी जो गुरुवार से भारत के खिलाफ पहला टेस्ट खेलेगी। साथ ही इस मौके पर इंग्लैंड के पूर्व कप्तान केविन पीटरसन भी मौजूद थे जिन्होंने एमएके पटौदी स्मृति व्याख्यान दिया। एमएके पटौदी व्याख्यान में संबोधित करने वाले पहले विदेशी खिलाड़ी पीटरसन ने कहा, 'यदि हम चाहते हैं कि क्रिकेटर पांच दिवसीय क्रिकेट खेले तो हमें उन्हें अच्छे पैसे देने होंगे । हम उन्हें कैसे दें इसके लिए टेस्ट क्रिकेट में बदलाव की जरूरत है ताकि मैच के पांचों दिनों में रोमांच हो। दिन रात के मैचों ने दिखाया है कि कैसे उतार-चढ़ाव आ सकते हैं । आईपीएल उस समय नहीं खेला जाता जब उसके प्रशंसक काम पर रहते हैं । टेस्ट क्रिकेट में भी ऐसा ही होना चाहिए।' साथ ही उन्होंने कहा कि टेस्ट क्रिकेट की मार्केटिंग बेहद जरूरी है ।

इस अवॉर्ड शो में पिछले जमाने की और मौजूदा पीढ़ी के भारतीय क्रिकेटर एक ही छत के नीचे मौजूद थे। अंशुमान गायकवाड़ और सुधा शाह को सी के नायडू लाइफटाइम अचीवमेंट सम्मान दिया गया। जलज सक्सेना, परवेज रसूल और कृणाल पंड्या को घरेलू क्रिकेट में लगातार अच्छे प्रदर्शन का पुरस्कार मिला। जलज और रसूल को रणजी ट्रोफी में सर्वश्रेष्ठ हरफनमौला और कृणाल को विजय हजारे वनडे चैम्पियनशिप में उनके प्रदर्शन के लिए पुरस्कार मिले। कृणाल भारत ए के साथ दौरे पर होने के कारण पुरस्कार लेने के लिए मौजूद नहीं थे।

Source : Agency

संबंधित ख़बरें

आपकी राय

13 + 11 =

पाठको की राय