Friday, August 17th, 2018

कितना सेफ है WhatsApp पेमेंट, सरकार ने दिए जांच के आदेश

इलेक्ट्रॉनिक्स एवं आईटी मंत्रालय ने नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) से यह जांच करने को कहा है कि क्या व्हाट्सऐप पेमेंट्स सर्विस ने रिजर्व बैंक नियमों और ग्राहकों की डेटा सुरक्षा नियमों को पूरा किया है. मंत्रालय ने NPCI से कहा कि वह ये जांच करे कि मोबाइल मैसेंजर ऐप ने अपनी सेवाओं का विस्तार करने से पहले रिजर्व बैंक नियमों और ग्राहकों के डेटा की सुरक्षा के लिए पर्याप्त कदम उठाए थे.

एक आधिकारिक सूत्र ने कहा कि MeitY ने NPCI से कहा है कि वह जांच करे कि व्हाट्सऐप पेमेंट्स रिजर्व बैंक की अनुमति के अनुरूप काम कर रही है. वह अपने डेटा को कहां स्टोर कर रही है. क्या सेवा का बड़ा संस्करण पेश करने से पहले उसकी मूल कंपनी फेसबुक ने उसके साथ डेटा साझा तो नहीं किए थे.

रिजर्व बैंक ने 5 अप्रैल, 2018 को कहा था सभी पेमेंट सिस्टम ऑपरेटरों को यह सुनिश्चित करना होगा कि पेमेंट से संबंधित आंकड़े सिर्फ भारत में स्टोर किए जाएं. उन्हें इसके अनुपालन के लिए छह महीने का समय दिया गया था.

गौरतलब है कि फेसबुक के स्वामित्व वाला WhatsApp भारत में अगले हफ्ते तक पेमेंट सर्विस लॉन्च कर सकता है. मामले से जुड़े लोगों ने बताया है कि बावजूद इसके पार्टनर्स पूरी तरह से तैयार नहीं हैं.

इस मैसेजिंग ऐप के पार्टनर्स की लिस्ट में HDFC बैंक, ICICI बैंक और Axis बैंक का नाम शामिल है. साथ ही सभी जरूरी तैयारियों के बाद स्टेट बैंक ऑफ इंडिया का नाम भी इस लिस्ट में शामिल हो जाएगा. सभी ट्रांसफर्स इन्हीं पार्टनर्स के जरिए की जाएगी.

Source : Agency

संबंधित ख़बरें

आपकी राय

12 + 3 =

पाठको की राय