भोपाल
मध्य प्रदेश के 28 जिलों में एक बार फिर इंडियन मेट्रोलॉजिकल डिपार्टमेंट (IMD) ने भारी और अतिभारी बारिश की चेतावनी जारी की है. इसके अलावा बाकी जिलों में भी लगातार बारिश का दौर जारी रहेगा. हालांकि बाढ़ और भारी बारिश के चलते प्रशासन पहले से ही अलर्ट मोड पर है.

वहीं मौसम विभाग के मुताबिक मध्य प्रदेश के 28 जिलों में आने वाले 24 घंटों में अति भारी बारिश का खतरा मंडरा रहा है. प्रदेश के कई जिलों में पहले ही नदियां उफान पर हैं, ऐसे में इस चेतावनी के बाद प्रशासन भी अलर्ट पर है. मौसम विभाग के मुताबिक बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बनने से अगले 24 घंटे में प्रदेश के कई जिलों में भारी बारिश की संभावना है.

आपको बता दें कि मध्य प्रदेश में पिछले 24 घंटों के दौरान सागर, जबलपुर, शहडोल और रीवा संभागों के जिलों में अनेक स्थानों पर बारिश दर्ज की गई है. वहीं बक्सवाहा में 6 सेंटीमीटर, लटेरी में 5 सेंटीमीटर, सतना और छतरपुर में 4 सेंटीमीटर, सिंगरौली, हनुमना और नौगांव में 3 सेंटीमीटर, गंजबासौदा, बेगमगंज, राजगढ़, जावद, नरसिंहगढ़ और बुदनी में 2 सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गई है.

मध्य प्रदेश में कुछ समय से लगातार मानसून सक्रिय है. कई स्थानों पर भारी बारिश के कारण नदी-नाले उफान पर हैं. वहीं प्रदेश में पिछले कुछ दिनों से हो रही आफत की बारिश में 35 लोगों की जान भी जा चुकी है.

मौसम विभाग ने कहा है कि पिछले कुछ दिनों से ग्वालियर में रुक-रुककर बारिश का दौर जारी है. पूरे मानसून सीजन में डेढ़ माह में से 22 दिन बारिश नहीं हुई है. जो बारिश हुई है वो भी पर्याप्त नहीं है. विशेषज्ञों के मुताबिक अब यहां 14 अगस्त के बाद बारिश का दौर शुरू हो जाएगा.