खरगोन
जिले में एनटीपीसी द्वारा संचालित किए जा रहे सेल्दा थर्मल पावर प्लांट पर जा रहे डीजल से भरे 3 टैंकर के चालको के साथ 2 जुलाई की शाम हुई लूटपाट की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। यह लूटपाट चालकों से रुपए लूटने की नियत से नहीं बल्कि धमकाकर गुणवत्ता युक्त डीजल को मिलावटी डीजल में बदलने की नियत से की गई थी। इस वारदात को अंजाम देने के लिए इंदौर से तीन कारों में सवार होकर आरोपी आए थे और गोगावां थानाक्षेत्र के रोडिया नहर के पास टेंकरों के सामने एक कार अड़ाकर वारदात को अंजाम दिया था। पुलिस ने इस मामले में 4 आरोपियों सहित एक कार, नकदी रुपए और लूट के मोबाइल बरामद किए है। शेष 7 आरोपी जिनमें मास्टर माइंड भी शामिल है फिलहाल फरार है।

 मंगलवार को पुलिस कंट्रोल रुम में मामले का खुलासा करते हुए एसपी सुनील कुमार पांड्ेय ने बताया कि 2 जुलाई को गोगावां थाने पर डीजल टेंकर वाहन चालक मोहम्मद युसुफ कोदन शेख निवासी मुंबई महाराष्ट्र ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि शाम करीब 6.30 बजे अहिरखेड़ा पुलिस चौकी क्षेत्र की रोडिया नहर के पास अज्ञात बदमाशों ने डीजल लेकर जा रहे 3 टैंकरों के सामने रिट्ज कार अड़ाकर रोका और युसुफ सहित हेल्पर मुकेश गोपाल, अन्य टेंकर चालक अब्दुल कदीर, चालक इरफान एहमद के साथ मारपीट कर 6 हजार 500 रुपए नकदी सहित मोबाइल लूट लिए।  पुलिस ने धारा 394 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर जांच शुरू की।

डीजल टैंकर चालकों से हुई लूट के मामले में पुलिस ने सायबर सेल एवं अन्य स्त्रोतों की मदद ली। एएसपी शशिकांत कनकने के नेतृत्व में एसडीओपी राजाराम अवास्या के निर्देशन में थाना प्रभारी दिलीप गंगराडे की टीम आरोपियों की तलाश में इंदौर पहुंची। यहां से बिलू कैलाश ीाील निवासी काली किराय इंदौर, सूरज उर्फ तारु पिता श्यामू भील निवासी गाडाघाट थाना मानपुर, गोरव पिता जगदीश जाट निवासी खरेली थाना अमझेरा जिला धार, अमरजीतसिंह ज्ञानजीतसिंह नागोर इंदिरा कॉलोनी देवास को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई। इनके कब्जे से पुलिस ने लूटे गए दो मोबाइल, 5 हजार रुपए नकद और एक वाहन बरामद किया।

पकड़े गए आरोपियों ने पूछताछ में सिलसिलेवार लूट की वारदात का खुलासा किया। उन्होंने पुलिस को बताया कि यह लूट ्रप्रेम जाट निवासी कौडिया थाना मानपुर के कहने पर की गई। प्रेम हाईवे से गुजरने वाले डीजल टेंकर चालकों से सांठगांठ कर डीजल की बदली करता था। चुंकि प्लांट में गुणवत्तायुक्त डीजल की मांग होती थी, इसलिए वह यह डीजल बदलकर उसमें अमानक स्तर का डीजल डलवा देता था, रुपयों की लालच में टैंकर चालक भी सहमत थे। प्रेम पर 4 अपराध दर्ज है, शेष आरोपियों का रिकार्ड भी खंगाला जा रहा है।

एसपी ने बताया कि कुछ समय पहले प्लांट में डीजल बदलने की जानकारी मिलने पर बैडिया थाने पर इसकी शिकायत की गई थी, जिसके बाद टैंकर चालक डीजल बदलने से डरने लगे और प्रेम का धंधा चौपट होने लगा। इसके बाद उसने पकड़े गए चार आरोपियों सहित ओमप्रकाश चौधरी, करण निवासी राजस्थान, पंडित निासी उत्तर प्रदेश जो फरार है को साथ लेकर गैंग बनाई और 2 जुलाई को 3 कारों में सवार होकर टैंकर चालकों को धमकाने की नियत से पीछा करते हुए पहुंचे थे। रोडिया नहर पर सुनसान इलाका देख एक कार आगे अडाने के बाद टैंकर चालकों को धमकाने के बाद उनसे लूटपाट की गई। एसपी ने साइबल सेल सहित पुलिस टीम को पुरस्कृत करने की घोषणा की है।