Friday, July 20th, 2018

कचरा प्रबंधन के लिए एक वार्ड में बनाओ पायलट प्रोजेक्टः कलेक्टर

ग्वालियर
ग्वालियर शहर और इसके आसपास लगे 16 नगरीय क्षेत्रों के लिए कचरा प्रबंधन का कार्य होने जा रहा है। इस प्रबंधन को लेकर शनिवार को कलेक्टर राहुल जैन, निगमायुक्त विनोद शर्मा आदि ने बैठक ली। बैठक में कलेक्टर ने कहा कि पहले एक वार्ड को कचरा प्रबंधन के पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर तैयार किया जाए। मॉडल के रूप में बनाए गए इस वार्ड से लोगों से नाम मात्र का कचरा प्रबंधन शुल्क भी लगाया जाए। बैठक में कचरा प्रबंधन प्रोजेक्ट के लिए संस्था ईको ग्रीन एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड गुड़गांव के डीजीएम बृजेन्द्र रावत उपस्थित थे। बैठक के बाद सभी ने लैंडफिल साइड का भी निरीक्षण किया।

कलेक्टर श्री जैन ने कहा कि इस प्रोजेक्ट को पूरे शहर में लागू करने की वजह पहले चुनिंदा इलाकों में लागू किया जाए। साथ ही जनप्रतिनिधियों से भी सलाह मशविरा किया जाए। उन्होंने आवश्यकतानुसार कचरे के लिए ग्वालियर शहर के साथ मालनपुर, बामौर, टेकनपुर बीएसएफ अकादमी, सीआरपीएफ क्षेत्र सहित चिनौर, बेहट आदि को भी जोड़ा जाए। निगमायुक्त विनोद शर्मा ने बताया कि 16 नगरीय क्षेत्रों से एकत्रित होने वाले कचरे से 15 मैगावॉट बिजली का उत्पादन हो सकेगा। इसमें 254 करोड़ रुपए की राशि खर्च होगी।

60 स्थान किए अंडरग्राउंड बिन्स के लिए चिन्हित
कलेक्टर ने कहा कि पूर्व में स्थापित लैंडफिल साइड का निरीक्षण भी किया जाए साथ ही पूर्व कंपनी की सामग्री का मूल्यांकन भी किया जाए। मूल्यांकन के लिए ईएण्डएम और हैवी मशीनरी के इंजीनियर की टीम गठित करने का भी निर्देश दिया।

Source : Agency

संबंधित ख़बरें

आपकी राय

10 + 9 =

पाठको की राय