भोपाल
 बीजेपी के दो विधायकों की क्रॉस वोटिंग के बाद मध्यप्रदेश में सियासी हलचल बढ़ गई है। बीजेपी अब डैमेज कंट्रोल करने में जुट गई है। वहीं, पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने अब साफ शब्दों में कहा है कि खेल उन्होंने शुरू की है, अब खत्म हम करेंगे। इससे पहले बीजेपी के वरिष्ठ नेता नरोत्तम मिश्रा ने भी यही बात कही थी।

दरअसल, मध्यप्रदेश के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में सदस्यता अभियान के लिए पहुंचे थे। उन्होंने मीडिया से बात करते हुए मध्यप्रदेश की राजनीति पर भी बात की। शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि अगर भाजपा सरकार बनाने को सोचती तो कांग्रेस मध्यप्रदेश में सरकार बना ही नहीं पाती। कांग्रेस घबराई और डरी हुई है। शिवराज सिंह ने कहा मध्यप्रदेश में अब उनके पास बहुमत नहीं है। उनकी सरकार सपा और बसपा के सहारे चल रही है।

समापन हम करेंगे
शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि हमारी और उनकी सीटों में बहुत ज्यादा अंतर नहीं है। लेकिन नैतिकता का तकाजा था, इसलिए मैंने कहा कि हमसे ज्यादा सीट कांग्रेस के पास है तो हम सरकार बनाने का दावा पेश नहीं करेंगे। इसलिए हमने दावा पेश नहीं किया। मध्यप्रदेश में हमलोगों ने कांग्रेस को सरकार बनाने दी। घबराई कांग्रेस ने मध्यप्रदेश गंदगी फैलाने की शुरुआत की है, वो अब सफल नहीं होगी। शुरुआत उन्होंने की है और समापन हम करेंगे।

सब कंट्रोल में है
वहीं, जब शिवराज सिंह चौहान से पूछा गया कि वोटिंग के दौरान आपके 22 विधायक सदन में मौजूद नहीं थे, क्या वो भी कांग्रेस के संपर्क में हैं। इस पर शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कोई किसी के संपर्क में नहीं है। सब अपनी जगह हैं और सब कंट्रोल में हैं। शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि भाजपा को कोई सरकार गिरानी नहीं थी। नहीं तो हम बनने ही नहीं देते। इसलिए हमलोगों ने कभी कोशिश नहीं की कि सरकार गिराई जाए।

मुझे कुछ नहीं कहना है
क्रॉस वोटिंग करने वाले बीजेपी विधायक शरद कौल और नारायण त्रिपाठी पर शिवराज सिंह ने कहा कि इस पर मुझे कुछ नहीं कहना है। निष्कासन के सवाल पर शिवराज सिंह ने कहा कि कुछ अंदर की बातें हैं, जो बाहर नहीं जा सकती है।