Thursday, August 16th, 2018

वास्तु: मुसीबतों की ओर इशारा करते हैं ये संकेत

ज्योतिष शास्त्र व वास्तु शास्त्र में एेसे कई शुभ-अशुभ संकेत बताए गए है, जिनसे व्यक्ति को अपने आने वाले अच्छे-बुरे समय के बारे में पता लग सकता है। जिनमें से अशुभ  संकेत हमें आने वाली विपत्तियों के बारे में पूर्व आभास करवाते हैं और बताते हैं कि जिस काम को हम करने जा रहे हैं उसमें सफल होंगे या नहीं। इसी के साथ ये आपके आने वाले बुरे समय की तरफ़ भी इशारा करते हैं। तो आइए जानते हैं कौन से इशारे हमें दिखाते हैं अशुभ संकेत-
 
घर के सामने कोई कुत्ता भवन की ओर मुख करके रोए तो निश्चय ही उस में घर में कोई विपत्ति आने वाली है या ये किसी की मृत्यु का संकेत देता है।

जिस घर में बिल्लियां लड़ती रहती हैं वहां विवाद की अधिक संभावना रहती है, और पारिवारिक मदभेद बढ़ता है। साथ ही जहां चमगादड़ों का वास होता है उस जगह पर भी अशुभता अधिक रहती है।

घर में मकड़ी के जाले होना भी वास्तु के अनुसार अशुभ माना जाता है। साथ ही जहां चमगादड़ों का वास होता है उस जगह पर भी अशुभता अधिक रहती है।

घर के आंगन में किसी घायल पक्षी का गिरना दुर्घटना का संकेत होता है।

जिस घर की छत पर कौए या उल्लू घोर शब्द करते हैं, वहां अचानक विपत्तियां आने की संभावना अधिक होती है।

किसी भूमि की खुदाई करते समय कोई मृत जीव, खासकर सर्प दिख जाए तो यह बुरे समय को दर्शाता है। वहीं अगर भूमि की खुदाई करते हुए राख या हड्डी जैसी वस्तुएं मिलती हैं तो यह पहचान है कि आपके ऊपर कोई अनजाना खतरा मंडरा रहा है।

जिस घर में लाल चींटियां आती हैं, वहां किसी बड़े नुकसान होने का संकेत है।
 
घर में दीमक लगी हो या मधुमक्खी का छत्ता तो यह बताता है कि घर के मुखिया को असहनीय पीड़ा का सामना करना पड़ सकता है।

घर में अचानक काले चूहों के आने-जाने की संख्या में अचानक से वृद्धि हो जाए, तो यह जल्द ही आने वाली विपत्तियों की ओर इशारा करता है।

Source : Agency

संबंधित ख़बरें

आपकी राय

10 + 3 =

पाठको की राय