भोपाल
सरकार ड्राइविंग लाइसेंस (डीएल) और वाहनों के रजिस्टेशन सर्टिफिकेट (आरसी) बनवाने के नियमों को आसान बनाने के लिए लगातार काम कर रही है। इसी कड़ी में अब केंद्रीय सड़क परिवहन राजमार्ग मंत्रालय ने देशभर के डीएल और आरसी में एकरुपता लाने के लिए बदलाव कर दिया है। एक अक्टूबर से प्रदेश सहित पूरे देश के डीएल और आरसी एक जैसे होंगे। अब हर राज्य में डीएल और आरसी का रंग और स्वरुप एक जैसा ही होगा। साथ ही दोनों को बनवाने का खर्चा भी कम आएगा। केंद्रीय सड़क परिवहन राजमार्ग मंत्रालय के निर्देश के बाद भोपाल आरटीओ में इसकी तैयारियां शुरू कर दी गई हैं, ताकि तय समय यानी 70 दिन के अंदर यह काम व्यवस्थित और बेहतर ढंग से शुरू हो सके। साथ ही नए बदलाव के बाद अब डीएल और आरसी से आधार को भी लिंक किया जाएगा।

इस निर्णय से डीएल और आरसी में जानकारियों को लेकर भ्रम की स्थिति नहीं रहेगी। अब तक हर राज्य अपनी सुविधा के अनुसार ही डीएल और आरसी का फॉर्मेट तैयार करता है। इसकी वजह से किसी राज्य में कुछ जानकारियां डीएल के फं्रट में होती है, तो किसी राज्य में वहीं जानकारी पीछे अंकित होती थी। ऐसे में नया फॉर्मेट तैयार हो रहा है, जो अगस्त के दूसरे सप्ताह तक पूरा हो जाएगा। इसके बाद पूरे देश में एक जैसा फॉर्मेट लागू होगा।

प्रदेश में इस बदलाव को लेकर सभी आरटीओ को निर्देश जारी हो चुके हैं। सभी ने काम भी शुरू कर दिया है। पहले इस नए बदलाव को एक जुलाई से लागू करने की योजना थी, लेकिन कई राज्यों ने संसाधनों की कमी का हवाला देकर इसके लिए और समय मांगा था। इसके बाद यह समय सीमा एक अक्टूबर तक बढ़ाई गई थी।

नए ड्राइविंग लाइसेंस में ये होंगे बदलाव

  •  नए लाइसेंस में चिप आगे की तरफ ही रहेगी और पीछे की तरफ क्यूआर कोड रहेगा।
  •  आवेदक की फोटो आगे और पते के लिए तीन लाइनों की जगह रहेगी।
  •  जन्मतिथि, ब्लड ग्रुप और अंगदाता होने की जानकारी फ्रंट में रहेगी।
  •  लाइसेंस के पीछे लाइसेंस की श्रेणी और दो-चार और हैवी वाहन चलाने की जो अनुमति है उसकी तारीख लिखी होगी।
  •  सबसे नीचे इमरजेंसी कॉन्टेक्ट नंबर भी दर्ज होगा।