गुमला 
झारखंड के गुमला जिले में मॉब लिंचिंग का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि शनिवार को गुमला में जादू-टोना के शक 4 लोगों की बुरी तरह से पिटाई की गई और उसके बाद गला काटकर उनकी हत्‍या कर दी गई। हत्‍या की यह घटना सिसकारी गांव की है। सूत्रों के मुताबिक शनिवार को 10 से 12 लोगों ने चारों पीड़‍ितों को उनके घर से निकाला और पिटाई करने के बाद उनकी हत्‍या कर दी। गुमला के एसपी अंजनी कुमार झा ने कहा, 'प्रथम दृष्‍टया यह पता चला है कि पीड़‍ित लोग जादू-टोना करते थे। ऐसा लग रहा है कि अंधविश्‍वास में आकर इस हत्‍याकांड को अंजाम दिया गया है। मामले की जांच जारी है।' उधर, सूत्रों ने बताया कि उन्‍होंने बताया कि चारों लोगों की हत्‍या से पहले जन अदालत लगाई गई थी और इसमें उन पर ओझाई और टोना-टोटका करने का आरोप लगाया गया। 

मौके से आरोपी फरार पुलिस ने सभी लोगों के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। जिन लोगों की हत्या की गई है, उनमें 60 वर्षीय चापा उरांव, उसकी पत्नी पीरा उराईन सहित गांव के 2 अन्य लोग शामिल हैं। वारदात की सूचना पाकर झारखंड पुलिस मौके पर पहुंची है। मामले की जांच की जा रही है। हत्या के बाद घटना को अंजाम देने वाले लोग अपराधी गांव छोड़ कर भाग गए हैं। ज्‍यादातर घरों में ताला बंद है। ग्राम प्रधान से पुलिस पूछताछ कर रही है। स्‍थानीय लोगों के मुताबिक लाठी डंडे और धारदार हथियारों से लैस लोगों ने 3 घरों का दरवाजा खुलवाकर 4 लोगों को अपने कब्जे में ले लिया और बाहर से सभी 3 घरों में ताला जड़ दिया। अगवा किए गए सभी लोगों को अपराधी गांव के किनारे ले गए। वहां पर पहले चारों लोगों की लाठी-डंडे से बुरी तरह पिटाई की गई और फिर उनका गला रेत दिया गया।