रायपुर
कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन और एएसपी आरिफ एच. शेख ने शनिवार को राजधानी के केन्द्रीय जेल का औचक निरीक्षण किया। कलेक्टर और एएसपी ने जेल में बंदियों के भोजन, चिकित्सा और सुरक्षा सहित अन्य व्यवस्थाओं का जायजा लिया। उन्होंने यहां बंदियों द्वारा निर्मित किए जा रहे साबून, प्रिटिंग मटेरियल, सिलाई, लौह सामग्री आदि का भी जायजा लिया और उसके बदले में बंदियों को दिए जा रहे प्रोत्साहन राशि की जानकारी ली। कलेक्टर और एएसपी ने महिला और पुरूष बैरकों में पहुंचकर बंदियों से चर्चा भी की और उनकी समस्याओं के बारे में भी जानकारी ली।

कलेक्टर एस भारतीदासन ने निरीक्षण के दौरान पाया कि जेल परिसर स्कूल एसआरटी में यहां 15 छोटे-छोटे बच्चे पढ़ रहे है। इसमें से दो बालिका 6 वर्ष की उम्र की है जो बोर्डिंग स्कूल में जा सकती है। कलेक्टर और एएसपी ने इन बालिकाओं की माताओं से चर्चा कर इन बालिकाओं की आगे की बेहतर पढ़ाई के लिए जिला शिक्षा अधिकारी(डीईओ) को निर्देश दिए। डॉ. भारतीदासन और आरिफ शेख ने एसआरटी में मौजूद नन्हें-मुन्ने बच्चों से बातचीत की और उनका उत्साहवर्धन करते हुए उन्हें टॉफी और बिस्कुट भी प्रदान की। इस अवसर पर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी और अपर कलेक्टर डॉ. गौरव कुमार सिंह, एसडीएम प्रणव सिंह, जिला शिक्षा अधिकारी जी.आर.चंद्राकर, जिला कार्यक्रम अधिकारी  अशोक पाण्डेय, तहसीलदार  अमित बेक उपस्थित थे।