नई दिल्ली तीन अगस्त से शुरू हो रहे विंडीज दौरे के लिए भारतीय टीम का सिलेक्शन रविवार को यानी आज किया जाएगा। एमएसके प्रसाद की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय सीनियर चयन समिति मुंबई में वानखेड़े स्टेडियम में बैठक कर दिन में तकरीबन दो बजे के दौरान प्रेस कॉन्फ्रेंस कर टीम का ऐलान करेगी। पूर्व कप्तान एमएस धोनी ने जहां एक दिन पहले ही साफ कर दिया कि वह चयन के लिए उपलब्ध नहीं होंगे तो विराट कोहली ने आराम से इनकार कर दिया है।

रिटायरमेंट की अटकलों के बीच धोनी के आराम करने के बाद असल मुद्दा विकेटकीपिंग का ही है। यह देखने वाली बात होगी कि 3 टी-20, 3 वनडे और 2 टेस्ट मैचों की सीरीज के लिए दस्ताना किसके हाथ में थमाया जाता है। हालांकि तय माना जा रहा है कि ऋषभ पंत विंडीज जाएंगे, लेकिन दूसरे विकेटकीपर को लेकर 2-3 नामों पर चर्चा हो सकती है। इनमें संजू सैमसन और ईशान किशन का नाम प्रमुख है।

गेंदबाजी में दिख सकते हैं कई नए चेहरे- कई नए चेहरों का आना तय माना जा रहा है, खासकर गेंदबाजी में। जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी, भुवनेश्वर कुमार को आराम दिया जा सकता है। तीनों अनुभवी गेंदबाजों की अनुपस्थिति चयन समिति को गेंदबाजी में बेंच स्ट्रैंग्थ को परखने और संभावित विकल्प तलाशने का मौका देगी। इस सूची में नवदीप सैनी प्रमुख हैं। वह विश्व कप में स्टैंड बाई में भी थी। खलील अहमद, आवेश खान, दीपक चाहर को विंडीज का टिकट मिलने की संभावना है।

बैटिंग में दिखेगा बदलाव- बल्लेबाजी में मयंक अग्रवाल के आने की पूरी उम्मीद है। अब देखना होगा कि कोहली के चयन के लिए उपलब्ध होने की पुष्टि के बाद क्या चयनकर्ता विश्व कप में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले रोहित शर्मा को आराम देते हैं या नहीं। न्यू जीलैंड दौरे गए पर गए शुभमन गिल का भी स्थान टीम में पक्का सा लग रहा है। केदार जाधव और दिनेश कार्तिक का टीम से बाहर जाना तय माना जा रहा है। इन दोनों के साथ विजय शंकर का नाम भी शामिल हो सकता है, क्योंकि उनकी चोट की स्थिति को लेकर बोर्ड ने अब तक कोई अपडेट नहीं दिया है। शंकर को विश्व कप के दौरान चोट लगी थी।

टेस्ट टीम में कौन-कौन?- अगर टेस्ट की बात की जाए तो टीम के सभी प्रमुख खिलाड़ी लौटेंगे। लगभग वही टीम देखने को मिल सकती है जो ऑस्ट्रेलिया में आखिरी सीरीज खेली थी। एक-दो बदलाव की उम्मीद की जा सकती है। मसलन, युवा सलामी बल्लेबाज पृथ्वी साव चोटिल हैं। टेस्ट सीरीज तक वो फिट हो पाते हैं या नहीं इस पर अभी तक कुछ साफ नहीं है। लोकेश राहुल और मयंक को सलामी जोड़ी में देखा जा सकता है। पृथ्वी अगर नहीं जाते हैं तो उनकी गैरमौजूदगी में तीसरे सलामी बल्लेबाज को ढूंढ़ना चयन समिति के लिए माथापच्ची का काम हो सकता है। ऐसे में मुरली विजय को एक बार फिर मौका दिया जा सकता है।