सिंगरौली

सिंगरौली जिले के मोरबा ओद्योगिक केन्द्र के निवासियों को वर्षों के इंतजार के बाद मीठा पानी मिल सका है। पानी के लिए वर्षों से जिला मुख्यालय के 30 कि.मी. दूर स्थित मोरबा क्षेत्र के निवासी हैण्डपम्प पर आश्रित थे। क्षेत्र में बड़ी-बड़ी कोयला खदानों की वजह से भू-जल में खनिज तेल का अंश आने से रहवासियों का पानी पीना दूभर हो रहा था। इस स्थिति में नगर निगम सिंगरौली के महापौर व पार्षदों की पहल पर बिजुल नदी से जल प्रदाय की योजना बनाई गई। मई 2019 तक वाटर ट्रीटमेंट प्लांट बनकर तैयार हो गया। अब पाइप लाइन से घर-घर पानी दिया जा रहा है।