लखनऊ
 उत्तर प्रदेश पुलिस को और अधिक आधुनिक करने के साथ ही 5673 नये पदों पर भर्तियां की जाएंगी। इनमें 19 राजपत्रित अधिकारी होंगे। 209 पद इंस्पेक्टर और 573 पद सब इंस्पेक्टर के सृजित होंगे। इसके साथ ही 5091 पदों पर सिपाहियों की भर्ती की जाएंगी। इन भर्तियों की प्रक्रिया जल्द शुरू होगी। डीजीपी ओपी सिंह ने बुधवार को इस बारे में बताया। उन्होंने यह भी कहा कि तीन महिला बटालियन लखनऊ, गोरखपुर और बदायूं में खोलने के लिए शासन को प्रस्ताव दिया गया है। 

डीजीपी ने कहा कि बीते साल में 3195 सब इंस्पेक्टर और 75 हजार 568 सिपाहियों की भर्ती की गई है। इसके अलावा अभी तक लापरवाह और अनुशासनहीन 364 पुलिसकर्मियों को अनिवार्य सेवानिवृत्ति दे दी गई। इनमें 11 इंस्पेक्टर और 57 सब इंस्पेक्टर शामिल हैं। अनिवार्य सेवानिवृत्ति के लिये बाकायदा कमेटी बनाकर स्क्रीनिंग की जा रही है। 
 
डीजीपी ओपी सिंह ने कहा कि आईपीएस और पीपीएस अफसरों की भी स्क्रीनिंग की जा रही है। अगर इनमें भी कोई अपनी डयूटी के प्रति लापरवाह या अनुशासनहीन पाया जाएगा तो उसे भी अनिवार्य सेवानिवृत्ति दी जाएगी। डीजीपी ने यह भी बताया कि अप्रैल 2017 से अब तक 46 हजार पुलिसकर्मियों को प्रोन्नति दी जा चुकी है। इनमें 2562 इंस्पेक्टर और करीब 35 हजार सिपाहियों का प्रमोशन शामिल है।